कमलनाथ के सांवेर दौरे पर सियासत, कांग्रेस ने भरा जीत का दम

इंदौर: मध्य प्रदेश में होने वाले उपचुनाव को लेकर राजनीतिक दलों ने अपनी कमर कस ली है. जहां बीजेपी की तरफ से सीएम शिवराज और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रचार के लिए मैदान में उतर चुके हैं.

वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ भी प्रचार का बिगुल बजाने वाले हैं. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ 13 सितंबर को सांवेर दौरे पर आ रहे हैं. जिसे लेकर कांग्रेस और बीजेपी में जुबानी जंग तेज हो गई है.

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के दौरे को लेकर पार्टी नेता प्रेमचंद गुड्डू का कहना है कि 13 सितंबर को पूर्व सीएम का दौरा है. वे कार्यकर्ताओ में जोश भरेंगे. हमें पूरा भरोसा है कि प्रदेश की जनता अबकी बार भी कांग्रेस पर भरोसा जताएगी.

वहीं जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के दौरे को लेकर तंज कसा है. उन्होंने कहा कि सीएम थे तब नहीं आए,अब पूर्व सीएम के रूप में आ रहे हैं.

परीक्षाओं के आयोजन से अभ्यर्थी परेशान, उठी तिथि में बदलाव की मांग

अन्नदाता उनसे पूछेगा कर्ज माफ क्यों नहीं हुआ. युवाओं के साथ धोखेबाजी के जो वादे किए, वह पूरे नहीं किए, यह सवाल पूर्व मुख्यमंत्री से पूछे जाएंगे.

आपको बता दें कि सीएम शिवराज और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया 14 सितंबर तक ग्वालियर- चंबल संभाग समेत विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों के दौरे रहेंगे.

वहां करोड़ों रुपये के विकास कार्यों की सौगात का शिलान्यास और भूमि पूजन भी करेंगे. इस दौरान उनके साथ केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित प्रदेश के कई मंत्री भी हैं.

ED की बड़ी कार्रवाई, नर्सिंग घोटाले मामले में की बडी कार्यवाही

गुरुवार को सीएम शिवराज ने मुरैना दौरे पर पूर्व सीएम कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि  कमलनाथ जी कभी वल्लभ भवन से नहीं निकले,वहीं बैठकर एमपी को लूटने का काम किया. विकास की बात करने गए विधायकों के लिए उनके पास समय नहीं था.

कमलनाथ जी के समय मे बल्लभ भवन में बोरा भरकर पैसा जाता था, वो बोरा नाथ हो गए थे. सीएम शिवराज ने कहा कि एमपी के युवाओं को बैंड बजाने की नौकरी दे रहे थे युवाओं ने उनका ही बैंड बजा दिया है.