जब Sachin Tendulkar ने लिया था Social Distancing को नजरअंदाज करने का फैसला

वैसे तो Sachin Tendulkar ने अपने करियर में कई धमाकेदार पारियां खेली हैं लेकिन फैंस उनके द्वारा 1998 में शारजाह में कोका कोला कप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली उन दो पारियों को कभी भूल नहीं पाएंगे। 22 अप्रैल 1998 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में रेतीली आंधी के बाद Sachin Tendulkar ने रनों का सैलाब लाते हुए भारत को फाइनल में पहुंचाया था।

Sachin Tendulkar ने एक चैट शो के दौरान उस तूफान के बाद की स्थिति और संशोधित टारगेट को लेकर अपने विचार प्रकट किए। कोरोना वायरस की वजह से इस समय एक तरह से पूरी दुनिया में लॉकडाउन चल रहा है और सोशल डिस्टेंसिंग की बात चल रही है लेकिन Sachin Tendulkar ने खुलासा किया कि वे उस रेतीले तूफान से खुद को बचाने के लिए ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट को पकड़ने के बारे में सोच रहे थे।

सचिन तेंडुलकर ने कहा, ‘मैंने ऐसा रेतीला तूफान कभी देखा नहीं था, मैं डर गया था। मुझे लगा था कि मैं इसमें उड़ जाऊंगा। ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट मेरे ठीक पीछे खड़े थे और तूफान इतना तेज था कि मैंने Social Distancing को भुलाकर उन्हें पकड़ने का फैसला कर लिया था। मैंने फैसला कर लिया था कि यदि मैं उड़ने लगूंगा तो 80-90 किलो के गिलक्रिस्ट को पकड़ लूंगा।