पश्चिम बंगाल बना फिर राजनीतिक हिंसा का केंद्र, भाजपा के मंडल अध्यक्ष का मिला शव

कोलकाता। वैसे तो देश के 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव हैं, लेकिन सबकी नजरें पश्चिम बंगाल के चुनावों पर टिकी हुई है। चुनाव जैसे ही करीब आ रहे है, वैसे ही राजनीतिक हिंसा होना आम सी बात हो गई है। बीजेपी और टीएमसी के बीच सत्ता को लेकर जंग छिड़ी हुई है, आरोप प्रत्यारोप जारी है, इसी के बीच एक घटना सामने आई है। यहां के कूचबिहार के दिनहाटा में भाजपा कार्यालय के पास के पार्टी के मंडल अध्यक्ष का शव मिलने से हड़कंप मच गया है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि “यह एक पूर्व-नियोजित हत्या है। वे चाहते है कि भाजपा कार्यकर्ता डर के मारे घरों में बैठें, लेकिन हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे।”

टीएमसी के गुंडों नेभाजपा कार्यकर्ता को मारा

इससे पहले भी हाल ही में एक घटना सामने आई थी जहां कोलकाता से सटे सोनारपुर में एक बीजेपी कार्यकर्ता विकास नस्कर का शव पेड़ से लटकता मिला था। बीजेपी ने कहा है कि विकास नस्कर की हत्या कर दी गई है। वह भाजपा का कार्यकर्ता था। भाजपा ने आरोप लगाया था कि विकास नस्कर को टीएमसी के गुंडों ने मारकर उसके शव को रस्सी के सहारे पेड़ से टांग दिया। ऐसा दिखाने की कोशिश की गयी है मानो विकास ने आत्महत्या की है।

पश्चिम बंगाल विधानसभा के चुनाव 27 मार्च से शुरू

बंगाल में भाजपा सत्ता मे आने के लिए पुरजोर कोशिश कर रही है। पार्टी के बड़े मंत्री राज्य मे चुनाव प्रचार करने में लगे हुए है। बता दें कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए मतदान 27 मार्च से शुरू होगा। मतदान आठ चरणों में 29 अप्रैल तक चलेगा जिसके बाद दो मई को नतीजे घोषित किए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.