विकास दुबे कांड: जय वाजपेई की पत्नी का नाम इस खास लिस्ट में हुआ दर्ज

गैंगस्टर विकास दुबे के खजांची जय वाजपेई, उसकी पत्नी श्वेता, भाई रजत व इनके गिरोह द्वारा खरीदी गई कई नामी-बेनामी संपत्तियों का जिक्र करते हुए अधिवक्ता सौरभ भदौरिया ने एक बार फिर एडीएम वित्त को शिकायती पत्र देकर कार्रवाई की मांग की है।

पत्र में सौरभ ने 16 संपत्तियों का जिक्र करते हुए जय व उसके गिरोह के लोगों द्वारा कई नामी-बेनामी संपत्तियां औने-पौने दामों पर खरीदने का आरोप लगाया है।

मकानों की रजिस्ट्रियां बाजारी मूल्य से बहुत कम मूल्य में खरीद दिखाकर स्टांप शुल्क व टैक्स की चोरी कर सरकार को लाखों रुपए के राजस्व का चूना लगाया गया है।

पहले भी रजिस्ट्रार व डीएम कार्यालय में शिकायत की जा चुकी है लेकिन शासन-प्रशासन में गहरी पैठ के चलते अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई।

वहीं सौरभ का यह भी कहना है कि उच्चाधिकारियों के दबाव के चलते पुलिस ने रजत व उसके भाइयों पर गैंगस्टर का मुकदमा तो दर्ज कर लिया लेकिन गिरफ्तारी व दबिश के नाम पर खानापुर्ति की जा रही है।

दिल्ली-एनसीआर में मौसम ने बदला रूख, बीती रात से हल्की बारिश जारी 

सभी खुलेआम घूम रहे हैं और पुलिस उनके फरार होने की रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को देकर बरगला रही है। विभागीय सूत्र बताते हैं कि पुलिस की अब तक की जांच में जय बाजपेई की अकूत संपत्तियों का जिक्र सामने आया है।

एक-एक संपत्ति की प्रमाणिक तरीके से जांच की जाएगी कि इन्हें खरीदने के लिए धन कहां से आया। यह भी देखा जाएगा कि ये संपत्तियां वास्तव में जय बाजपेई की हैं या विकास दुबे की हैं। जय और इनके पारिवारिक सदस्यों के पास देश और विदेश में तीन दर्जन संपत्तियों होने की जानकारी सामने आई है।

जन्माष्टमी पर बिजली आपूर्ति रही बाधित, मंत्री ने दिए जांच के आदेश

आपको बता दें कि इससे पहले विकास दुबे कांड में जय बाजपेयी की पत्नी श्वेता बाजपेई सामने आई थी। श्वेता का कहना था कि मेरे पति को जबरन फंसाया जा रहा है। उन्होंने कोई गलत काम नहीं किया। हमारे परिवार को इस मामले में घसीटा जा रहा है।

मेरे पति का इन सब मामलों से कोई लेनादेना नहीं है। पुलिस ने सभी सीसीटीवी चेक किए हैं। मेरे पति घर पर थे फिर भी उन्हें आरोपी बनाया गया।