कोरोना पर अमेरिका-WHO में तकरार तेज, फंडिंग रोकने पर ट्रंप बोले- बढ़ चुके हैं कदम

अमेरिका और विश्व स्वास्थ्य संगठन के बीच में इस वक्त कोरोना वायरस को लेकर तकरार तज हो गई है. डोनाल्ड ट्रंप ने बीते दिनों संकेत दिया था कि वह फंडिंग रोक सकते हैं, जिसपर अब वह आगे बढ़ रहे हैं.


कोरोना वायरस को लेकर US-WHO में रारट्रंप बोले- फंडिंग रोकने के लिए कदम बढ़ाए कोरोना वायरस महामारी ने दुनियाभर में जो तबाही मचाई है, उसके लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चीन पर हमलावर हैं. इसी के साथ उन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन पर चीन का साथ देने, कोरोना वायरस की बात छुपाने का आरोप लगाया है. अब डोनाल्ड ट्रंप लगातार अमेरिका के द्वारा WHO को दी जाने वाली फंडिंग रोकने की धमकी दे रहे हैं और उन्होंने संकेत दिए हैं कि इस दिशा में कदम बढ़ाए जा चुके हैं.

बुधवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कई मौकों पर अमेरिका के साथ भेदभाव किया है, ऐसे में वो हमपर राजनीति करने का आरोप नहीं लगा सकते हैं. चीन WHO को सिर्फ 42 मिलियन देता है, लेकिन अमेरिका 450 मिलियन की मदद देता है. इसके बावजूद सबकुछ चीन के हक में ही जा रहा है.’


डोनाल्ड ट्रंप से जब पूछा गया कि क्या वह इस फंडिंग पर पूरी तरह से रोक लगा रहे हैं, तो उन्होंने कहा कि मैं ये नहीं कह रहा कि तुरंत बंद कर देंगे, लेकिन हम इस बारे में विचार जरूर करेंगे.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

अमेरिकी राष्ट्रपति के द्वारा लगातार किए जा रहे हमलों के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन का भी बयान सामने आया. WHO के डायरेक्टर जनरल टेड्रोस ने कहा कि वायरस के मुद्दे को किसी भी तरह राजनीति में नहीं लाना चाहिए. अगर आप इसे हल्के में लेना चाहते हैं