शेयर बाजार में 1000 से ज्यादा अंकों की गिरावट, निफ्टी 9000 से नीचे

शेयर बाजार की प्री-ओपनिंग भारी गिरावट के साथ हुई है। 9.05 बजे सेंसेक्स 802 अंकों की गिरावट के साथ 30,830 पर रहा, वहीं निफ्टी में 239 अंकों की कमी दर्ज की गई और यह 9030 पर रहा। यह अमेरिका में कच्चे तेल की कीमतों में रिकॉर्ड गिरावट का असर माना जा रहा है। वहीं 9.50 बजे सेंसेक्स 833 अंकों की गिरावट के साथ 30,814 पर रही, वहीं निफ्टी में 233 अंकों की गिरावट के साथ 9029 पर ट्रेडिंग हुई।

आखिरी में सेंसेक्स 1011 अंकों की गिरावट के साथ 30,636 पर बंद हुआ, वहीं निफ्टी 280 अंकों की गिरावट के साथ 9000 के मनोवैज्ञानिक से स्तर से नीचे 8981 पर बंद हुआ। इससे पहले सोमवार को कारोबार के आखिर में सेंसेक्स अपनी सिर्फ 59.28 अंकों यानी 0.19 प्रतिशत की बढ़त बचा पाया और 31,648 के स्तर पर बंद हुआ था। निफ्टी से बढ़त बचाई नहीं जा सकी और वह 4.90 अंक यानी 0.05 प्रतिशत लुढ़ककर 9,261.85 अंक पर बंद हुआ था।

जानकारों का कहना था कि बैंकिंग और विमानन सेक्टर के शेयरों पर थोड़ा दबाव दिखा। एक्सिस बैंक, आईटीसी, आईसीआइसीआइ बैंक, इंडसइंड बैंक और मारुति सुजुकी के शेयरों में बिकवाली दिखी। विमानन कंपनियों को बुकिंग बंद करने का जो निर्देश डीजीसीए ने दिया, उसके बाद सेक्टर के सभी प्रमुख स्टॉक्स बिकवाली का शिकार हुए। हालांकि एचडीएफसी बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज और एचडीएफसी जैसे बड़े स्टॉक्स में निवेशकों की दिलचस्पी ने सेंसेक्स को गिरने से और निफ्टी को बड़ी गिरावट से बचा लिया। आइटी स्टॉक्स में हुई खरीदारी से भी बाजारों को सहारा मिला।