सत्ता का मनमाना फ़रमान जारी : सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट की फोटोग्राफी प्रतिबंधित, आख़िर क्या छुपा रहे ‘सरकार’?

फोटोजर्नलिस्ट ने किया ट्वीट, बसपा नेता बोले- इसी ‘भारत निर्माण’ के लिए बनाई सरकार?

देवनाथ

नई दिल्ली। अगर आप दिल्ली में रहते हैं या किसी काम से घूमने आए हैं और आप राजपथ, इंडिया गेट, राष्ट्रपति भवन आदि जगहों की फोटोग्राफी करना चाहते हैं। साथ ही, आप अपने अंदर ईमानदारी भरी फोटोग्राफी से दुनिया को सच्चाई भी दिखाना चाहते हैं तो यकीन मानिए आपको फौरन डॉक्टर को दिखा लेना चाहिए क्योंकि आप जो यह सच दिखाने की बीमारी लिए बैठे हैं, इस पर केंद्र सरकार ने प्रतिबंध लगा दिया है।

तस्वीर खींचना मना है…

दरअसल, अब आप इस बीमारी से ग्रस्त होने की सोचें भी नहीं। रही बात आपकी फोटोग्राफी की तो अक्षरधाम जाइये, कुतुबमीनार जाइये या किसी नेता के समाधिस्थल चले जाइये, लेकिन इंडिया गेट, राजपथ, राष्ट्रपति भवन की ओर… ना बाबा ना…क्योंकि, फोटोग्राफी मना है।

एक फोटो से ‘नो फोटो’

केंद्र सरकार की अतिमहत्वाकांक्षी एवं कोरोना काल में भी सरकार के लिए ऑक्सीजन, दवाओं और बेहतर इलाज़ से भी ज्यादा ज़रूरी ‘सेंट्रल विस्टा परियोजना’ का काम जोरों पर चल रहा है। इसी बीच, महामारी से उपचार की तलाश में ज़िन्दगी हार रहे लोगों की तस्वीरों के बीच में एक तस्वीर इस प्रोजेक्ट के कार्य की सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। साहब को यह बात नागवार गुजरी कि लाशों की तस्वीरों से डर के माहौल के बीच जी रही जनता आख़िरकार सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर सवाल कैसे पूछने लगी? आनन-फानन में पूरे एरिया में बोर्ड गए ‘नो फोटोग्राफी, नो वीडियो रिकॉर्डिंग’।

सबसे पहले फोटोजर्नलिस्ट ने किया ट्वीट

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट में ‘नो फोटोग्राफी, नो वीडियो रिकॉर्डिंग’ के बोर्ड चारों ओर लगे हैं। फोटोजर्नलिस्ट अभिनव साहा ने 4 अलग-अलग तस्वीरों को अटैच कर इंडियन एक्सप्रेस और एक्सप्रेस इमेज को टैग करते हुए लिखा, ‘इंडिया गेट के निकट सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट साइट पर ‘नो फोटोग्राफी, नो वीडियो रिकॉर्डिंग’ के बोर्ड लगा दिए गए हैं। साहा के इस ट्वीट को पंख लग गए और यह ट्वीट वायरल हो गया।

बसपा नेता ने भी उठाए सवाल

अभिनव के इस ट्वीट को लोगों ने जमकर न सिर्फ़ लाइक किया बल्कि रिट्वीट भी किये। एक डिजिटल प्लेटफॉर्म द्वारा बाकायदा इसका एपिसोड बनाकर भी रन करते हुए ट्वीट किया गया। इस ट्वीट पर बहुजन समाज पार्टी के सुधींद्र भदौरिया ने लिखा कि, ’20 हज़ार करोड़ का सेंट्रल विस्टा का प्रोजेक्ट चालू है,जबकि कोरोना काल में बिना ऑक्सीजन और स्वास्थ्य सेवाओं के मौतें हो रही हैं व जनता तबाह है, क्या इसी नए भारत निर्माण के लिए सरकार बनाई गई थी?’ बीएसपी नेता के इस ट्वीट को भी लोगों ने जमकर आरटी यानी रिट्वीट और लाइक किया है।

कांग्रेस ने पूछा, क्या राज है?

इतना ही नहीं, कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला ने अभिनव की फोटोज़ को ख़ुद के ट्विटर हैंडल से अटैच करते पीएम नरेंद्र मोदी को आपदजीवी बताया है। उन्होंने लिखा है, ‘आपदजीवी जी, आपके पीएम निवास और 13 हज़ार 450 करोड़ के राजमहल यानी सेंट्रल विस्टा परियोजना की फोटो एवं वीडियोग्राफी पर प्रतिबंध क्यों? क्या राज है, जो छिपा रहे हो?’ कांग्रेस नेता के इस ट्वीट पर सरकार ने चुप्पी साध ली है। हालांकि, कुछ लोग रणदीप के ट्वीट का ‘ऐंवई’ जवाब देने भी जुटे हैं।

Leave a Reply