अल-अक्सा पर जंग : फ़िलिस्तीन और इज़राइल के बीच दागे गये रॉकेट, सऊदी अरब सहित मुस्लिम देशों में तनाव

इज़राइली दूतावास ने दी जानकारी, हमले में एक भारतीय महिला की मौत

नई दिल्ली। फिलस्तीन और इजरायल के बीच आर-पार की जंग छिड़ गई है। आपको बता दें कि यरुशलम स्थित अल-अक्सा मस्जिद में फिलिस्तीनियों और इजरायली सुरक्षा बलों के बीच सोमवार को झड़प ने अब हिंसक रूप ले लिया है। दोनो तरफ से रॉकेट दागे जा रहे हैं जिसमे कई लोगों ने अपनी जान भी गवां दी।

इजरायल हमास को आतंकी संगठन मानता है

अब खबर आई है कि मंगलवार को फिलिस्तीन के हमास संगठन ने अब तक का सबसे बड़ा हमला किया जिसमें उसने इजरायल पर 130 रॉकेट दागे। इस हमलें में एक भारतीय महिला को भी अपनी जान गंवानी पड़ी है। महिला का नाम सौम्या संतोष है, जो लगभग सात साल से इजरायल में रह रहीं थीं। बता दें कि इजरायल हमास को आतंकी संगठन मानता है। जिसने ये हमला किया है।

घर पर रॉकेट गिरने से सौम्या की मौत

इजरायल के विदेश मंत्रालय की तरफ से यह बताया गया है कि हमास ने रिहायशी इलाके में करीब 130 रॉकेट दागे हैं और यरुशलम में भारी हिंसा फैलाई। ऐसे ही एक हमलें में भारतीय महिला सौम्या संतोष की भी मौत हो गई। ‘टाइम्स ऑफ इजराइल’ की रिपोर्ट में कहा गया है कि एक रॉकेट सौम्या के घर पर जा गिरा, जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई। उनके परिवार में 9 साल का बेटा और पति हैं।

भारत में इजरायल के राजदूत ने की निधन की पुष्टि

भारत में इजरायल के राजदूत रॉन माल्का ने भी सौम्या संतोष के निधन की पुष्टि की है। उन्होंने इस संबंध में एक ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘इजरायल की तरफ से मैं सौम्या संतोष के परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं। वे हमास के आंतकी हमले में मारी गईं।ये जान हमारा दिल रो रहा है कि एक 9 साल के बच्चे ने इस क्रूर आतंकी हमले में अपनी मां को खो दिया है’।

80 वर्षीय महिला की केयरटेकर थी सौम्या

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जिस समय हमला हुआ सौम्या एक 80 वर्षीय बुजुर्ग महिला संग घर पर थीं।वो उस महिला की केयरटेकर थीं और लंबे टाइम से ध्यान रख रही थीं। इस हमलें में उनका घर भी नही बच पाया ।कहा जा रहा है कि 80 वर्षीय बुजुर्ग महिला इस हमले में बच गई हैं और उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक हमले के समय सौम्या वीडियो कॉल के जरिए अपने पति से बात कर रही थीं।

Leave a Reply