टेनिस स्टार सानिया मिर्ज़ा को मिला दुबई का गोल्डन वीज़ा

शाहरूख खान और संजय दत्त के बाद यह उप्लब्धी पाने वाली बनी तीसरी भारतीय

नई दिल्ली। भारत का अन्तर्राष्ट्रीय टेनिस की दुनिया में नाम बढ़ाकर नए नए कीर्तिमान रचने वाली टेनिस स्टार सानिया मिर्ज़ा इस बार भी खूब चर्चा में है। और इस बार की चर्चा का कारण बनी यह उप्लब्धी हर भारतीय के लिए कुछ खास़ है क्योंकि सानिया मिर्ज़ा को इस बार दुबई का गोल्डन वीजा मिला है क्योंकि यह सम्मान पाने वाली सानिया तीसरी भारतीय और पहली महिला बनी है।

क्या होगा फायदा

दुबई का गोल्डन वीज़ा मिलन के बाद अब सानिया दस साल तक बिना किसी रोक टोक के यूएई में रह सकेंगी। यह सम्मान पाने के बाद सानिया ने कहा, ‘दुबई गोल्डन वीजा देने के लिए सबसे पहले मैं शेख मोहम्मद बिन राशिद, फेडरल अथॉरिटी फॉर आइडेंटिटी एंड सिटिजनशिप एंड जनरल अथॉरिटी ऑफ स्पोर्ट्स दुबई को धन्यवाद देना चाहती हूं। दुबई मेरे और मेरे परिवार के बेहद करीब है।’

क्या होता है गोल्डन वीजा

गोल्डन वीजा हर किसी को नहीं मिलता और यह किसी सम्मान से कम नहीं होता और यह गोल्डन वीजा पाने वाले व्यक्ति को यूएई में लंबे समय (5 और 10 वर्ष) तक रहने की इजाजत दी जाती है। दुबई का गोल्डन वीजा कुछ खास वर्ग के लोगों को दी जाती है, जिसमें निवेशक, उद्यमी, उत्कृष्ट प्रतिभा वाले व्यक्ति मसलन शोधकर्ता, मेडिकल पेशेवर, वैज्ञानिक और छात्र शामिल हैं। गौरतलब है कि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने 2019 में लॉन्ग टर्म रेजिडेंट वीजा के लिए नया सिस्टम लागू किया था। इस नए नियम के तहत विदेशी नागरिक यूएई में रहकर 100 फीसदी अपने स्वामित्व में कारोबार कर सकेंगे। बता दें कि इसी साल मई के महीने में गोल्डन वीजा हासिल करने वाले भारतीय अभिनेता संजय दत्त ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी। इससे पहले शाहरुख खान को भी यह वीजा मिल चुका है।

Leave a Reply