मुन्ना बजरंगी हत्याकांड का आरोपित सुनील राठी कड़ी सुरक्षा में बागपत कोर्ट में पेश

अमर भारती : मुन्ना बजरंगी हत्याकांड का आरोपित सुनील राठी कड़ी सुरक्षा में तिहाड़ जेल से कोर्ट में पेश हुआ। कोर्ट में पेशी के बाद दिल्ली पुलिस आरोपित को वापस ले गई। गुरुवार को तिहाड़ जेल से दिल्ली पुलिस कड़ी सुरक्षा में सुनील राठी को बागपत कोर्ट लेकर पहुंची। पुलिस ने मुन्ना बजरंगी हत्याकांड की न्यायिक जांच में बयान दर्ज कराने के लिए सुनील राठी को सीजेएम कोर्ट में पेश किया गया, लेकिन अदालत में न्यायिक अधिकारी की तैनाती न होने के कारण बयान दर्ज नहीं हो सके।

फिर पुलिस राठी को गैंगस्टर एक्ट के केस में पेशी पर एडीजे/एफटीसी प्रथम मिताली गोविंद राव की अदालत लेकर गई। कोर्ट में पेशी होने के बाद पुलिस उसको वापस गाड़ी में लेकर पहुंची। दोनों अदालत ने अगली तिथि 30 मार्च नियत की है। इसके बाद सुनील राठी को पुलिस कड़ी सुरक्षा में दिल्ली ले गई। माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी हत्याकांड की न्यायिक जांच में बयान दर्ज कराने के लिए बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह को सीजेएम अदालत में आना था, लेकिन सीमा सिंह नहीं पहुंची।

बागपत विधायक को दी धमकी

कचहरी में कुख्यात सुनील राठी ने कहा कि उनका परिवार वर्ष 1980 से समाज सेवा की राजनीति कर रहा है। वहीं बागपत के विधायक योगेश धामा खनन-पट्टे की राजनीति कर रहे है, जरूरी है कि वह समाज सेवा करें। उनके रिश्तेदार बदरखा में बालू खनन का पट्टा लेकर एक नंबर में कार्य कर रहे है। कोई अपराध नहीं कर रहे है।

सरकार को करोड़ों राजस्व के जमा कराते है। सत्ता के प्रभाव में विधायक योगेश धामा अवैध खनन का आरोप लगाकर गलत जांच करा रहे है। गौरतलब है कि बागपत विधायक योगेश धामा की शिकायत पर बदरखा में अवैध खनन पकड़ गया और पट्टाधारक के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने व 3.90 करोड़ का जुर्माना लगने की कार्रवाई हुई है।