सीनेट ने महाभियोग सुनवाई में नये गवाहों को बुलाने वाले प्रस्ताव को किया खारिज

अमर भारती : रिपब्लिकन पार्टी के नियंत्रण वाली अमेरिकी सीनेट ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग मुकदमे के लिए नये गवाहों और दस्तावेजों को पेश करने वाले विपक्षी डेमोक्रेट्स के प्रस्ताव को शुक्रवार को मामूली अंतर से खारिज कर दिया।इसके परिणामस्वरूप सीनेट के अगले सप्ताह की शुरुआत में ट्रम्प को आरोपों से बरी करने की संभावना है। ट्रम्प का चार फरवरी को अपना तीसरा ‘स्टेट ऑफ द यूनियन एड्रेस’ (दोनों सदनों के संयुक्त सत्र के लिए राष्ट्रपति द्वारा दिया वार्षिक संबोधन) देने का कार्यक्रम है।

नये गवाहों को बुलाने के प्रस्ताव को 49 के मुकाबले 51 मतों के मामूली अंतर से गिरा दिया गया। 100 सदस्यीय सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी के पास 53 सीटें है और डेमोक्रेट्स के पास 47 सीटें हैं। रिपब्लिकन के दो सांसदों मिट रोमनी और सुसैन कोलिंस ने डेमोक्रेट्स के पक्ष में वोट दिया। यह मतदान व्हाइट हाउस के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन तथा ट्रम्प के अन्य सहायकों को गवाही के लिए बुलाने के वास्ते कराया गया।

डेमोक्रेट्स को व्हाइट हाउस से ट्रम्प को हटाने के लिए 67 मतों की आवश्यकता है। प्रतिनिधि सभा में बहुमत रखने वाले डेमोक्रेट्स ने ट्रम्प पर सत्ता का दुरुपयोग करने और कांग्रेस को बाधा पहुंचाने के आरोप में महाभियोग चलाया था। सीनेट ने गत सप्ताह महाभियोग की कार्यवाही शुरू की थी।