केरल में कोरोना वायरस से पीड़ित तीसरी छात्रा की दूसरी रिपोर्ट भी निगेटिव आई

अमर भारती : केरल में कोरोना वायरस से पीड़ित मेडिकल छात्रा की दूसरी रिपोर्ट भी निगेटिव आई है। इसी के साथ भारत में केरल में सामने आए इस घातक संक्रमण के सभी तीनों पीड़ितों के ठीक होने का संकेत हैं। राज्य सरकार ने बुधवार को यह जानकारी दी। इससे पहले दो अन्य छात्रों–एक अलाप्पुझा और दूसरा कासरगोड– को हाल में अस्पताल से छुट्टी दी गई है। इससे पहले उनकी रिपोर्टें भी निगेटिव आई थी।

अधिकारियों ने बताया कि महिला का इलाज त्रिशूर मेडिकल कॉलेज अस्पताल के पृथक वार्ड में चल रहा है। वह पिछले महीने चीन के वुहान से लौटी थी और भारत की कोरोना वायरस की पहली मरीज है। उन्होंने बताया कि उन्हें अस्पताल से छुट्टी देने पर मेडिकल बोर्ड निर्णय लेगा जो बृहस्पतिवार को बैठक कर रहा है।केरल के तीनों लोग वुहान से लौटने पर कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे।

चीन का वुहान कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित है। पड़ोसी मुल्क में यह संक्रमण दो हजार से ज्यादा लोगों की जान ले चुका है।स्वास्थ्य मंत्री के के शैलेजा ने एक विज्ञप्ति में कहा,“ त्रिशूर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में तीसरे मरीज की सेहत की हालत संतोषजनक है। छात्रा के खून के नमूनों की रिपोर्ट लगातार दूसरी बार निगेटिव आई है।

नमूनों को पुणे के राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान भेजा गया था।” स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि राज्य में कुल 2,242 लोगों को निगरानी में रखा गया है, जिनमें से आठ विभिन्न अस्पतालों के पृथक वार्डों और अन्य को घरों में अलग रखा गया है।