लगातार दूसरी बार रजत पदक लाने से चूकीं पी वी सिंधु, कांस्य पदक की उम्मीदें बरकरार

नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक में भारत की शानदार बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधु सेमीफाइनल में चीन की ताइपे जी ताई जू यिंग से हारकर फाइनल की रेस से बाहर हो चुकी हैं। दुनिया की नंबर वन खिलाड़ी ताई जू यिंग ने पी वी सिंधु को 18-21 और 12-21 सो दो गेम में हरा दिया। हालांकि सिंधु के पास अभी भी कांस्य जीतने का मौका है। जिसके लिए मैच कल होना है,जहां वह चीन की ही बिंग जिआओ का सामना करेंगी।

पहले मैच में 18-21 से हारी सिंधु

मैच की शुरुआत में पी वी सिंधु के आक्रामक तेवर देखने को मिले और फिर देखते ही देखते भारतीय खिलाड़ी ने 8-4 से बढ़त हासिल कर ली थी। लेकिन यू जिंग ने शानदार वापसी की। जैसे जैसे मैच आगे बढ़ता गया जू यिंग ने मैच पर पकड़ बनाना शुरू कर दिया। जिसके बाद सिंधु के हाथों से मैच फिसलता हुआ नजर आया। जू यिंग ने कई शॉट ऐसे खेले, जिनमें उनका चिर-परिचित अंदाज नज़र आया। इसी तरह सिंधु को चकमा देते हुए जू यिंग ने एक के बाद एक कई ऐसे शॉट्स लगाए कि सिंधु को सहज होने का मौका ही नहीं मिला। सिंधु को 18-21 से हराकर पहला मैच जू यिंग ने अपने नाम कर लिया।

दूसरे गेम में भी पिछड़ीं सिंधु

पहले गेम में मिली हार का दबाव सिंधु के खेल पर देखने को मिला। पहला गेम हारने के बाद पीवी सिंधु दूसरे गेम में भी पीछे ही रहीं। ताइ जू यिंग ने सिंधु को गलतियां करने के लिए मजबूर किया। जू यिंग ने सिंधु को इस मैच में जमने का मौका ही नहीं दिया। और एक बार फिर विश्व की नंबर वन खिलाड़ी ने दूसरा मैच भी 12-21 से जीतकर फाइनल्स में अपनी जगह बना ली।

Leave a Reply