तृणमूल के होते ही यशवन्त का प्रमोशन, बनाये गये उपाध्यक्ष

राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति में भी मिला स्थान

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व नेता और भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेई की सरकार में केन्द्रीय मंत्री रहे यशवन्त सिन्हा द्वारा तृणमूल कांग्रेस का दामन थामते ही उन्हें जिम्मेदारी भी थमा दी गई है। टीएमसी ने उन्हें पार्टी उपाध्यक्ष बना दिया है। साथ ही राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति का सदस्य भी नियुक्त किया गया है। तृणमूल कांग्रेस की राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति को निर्णय लेने के लिए पार्टी की सबसे बड़ी समिति माना जाता है।

मोदी के ऊपर उठाये सवाल

गौरतलब हो कि यशवंत सिन्हा भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता रह चुके हैं और अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार में वे वित्त मंत्री की भूमिका निभा चुके हैं। लेकिन, भारतीय जनता पार्टी की मौजूदा सरकार के साथ लंबे समय से उनका मतभेद रहा है और वे कई बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऊपर सवाल उठा चुके हैं।

चंद्रशेखर से अटल तक यशवंत


बीते रविवार को यशवंत सिन्हां ने कोलकाता स्थित टीएमसी भवन पहुंचकर पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इस अवसर पर उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा सभी संस्थान इस शासन में कमजोर हो गए हैं। आपको बता दें कि यशवंत सिन्हा पूर्व नौकरशाह रह चुके हैं। ब्यूरोक्रेसी छोड़कर राजनीति में कदम रखने वाले यशवंत सिन्हा पहली बार चंद्रशेखर की सरकार में वित्त मंत्री बने थे। अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली सरकार में भी यशवंत सिन्हा केंद्रीय मंत्रीमंडल में रहे। उन्होंने कई मंत्रालयों का कार्य संभाला।

Leave a Reply