कंपनी में आंतरिक नियंत्रण के लिये गड़बड़ी उजागर करने वालों के लिये नीति महत्वपूर्ण

अमर भारती : एचडीएफसी के उपाध्यक्ष और मुख्य कार्यपालक अधिकारी केकी मिस्त्री ने शुक्रवार को कहा कि कंपनियों में आंतरिक नियंत्रण के लिये गड़बड़ी को उजागर (व्हिसलब्लोअर) करने की नीति महत्वपूर्ण है। उन्होंने यह भी कहा कि साथ ही बेईमान शिकायकर्ता को दंडित करने की भी व्यवस्था होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि गलत इरादे से लगाये गये आरोप से जांच में समय की बर्बादी होती है। इससे शेयरधारकों की धारणा प्रभावित होती है और संगठनों की छवि खराब होती है।मिस्त्री ने उद्योग मंडल सीआईआई के कार्यक्रम में कहा, ‘‘वाकई में गड़बड़ी को उजागर करने वालों को नियामकों द्वारा प्रोत्साहित करने की जरूरत है। हालांकि बेईमान शिकायकर्ता को दंडित करने की भी व्यवस्था होनी चाहिए।’’

एचडीएफसी के सीईओ के अनुसार यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि कंपनी संचालन नियम इतने कड़े या प्रतिबंधित नहीं हो जिससे कंपनी की जोखिम लेने की क्षमता और आर्थिक वृद्धि में योगदान की क्षमता प्रभावित हो।उन्होंने कहा, ‘‘सुरक्षा उपाय और नियंत्रण ढांचा ऐसा होने चाहिए जिससे कंपनियां फल-फूल सके और कारोबार पर ध्यान दे सके।’’