CM नीतीश के निशाने पर PM मोदी व BJP सर्कार , बिहार के मुद्दे बने हथियर

बिहार में NDA की सरकार गिरने के बाद अब CM नीतीश कुमार व PM नरेंद्र मोदी अलग-अलग जगह पर खड़े हैं। साथ छूटने के बाद अब नीतीश कुमार बिहार के विषय को लेकर नरेंद्र मोदीऔर बीजेपी पर हमलावर हैं।

नीतीश के निशाने पर PM मोदी और BJP,
बिहार के मुद्दे बने हथियार
बिहार के CM नीतीश कुमार भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ खुलकर सामने आए है जहां उनके निशाने पर PM नरेंद्र मोदी भी हैं। जहां विधानसभा में विश्वा स प्रस्ताव मिलने के बाद नीतीश नए अंदाज़ में दिखे। जहां बिहार में जाति आधारित गणना के साथ कई नए-पुराने विषय पर आगे भी नीतीश के निशाने पर पीएम मोदी और उनकी सरकार रहेगी।

बिहार की पिछली राष्ट्रीकय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) सरकार में बीच के कुछ सालों को छोड़ दें तो साल 2010 से हाल फ़िलहाल तक मुख्यशमंत्री नीतीश कुमार ही रहे और बीजेपी के साथ उनके जनता दल यूनाइटेड की डबल इंजन सरकार रही लेकिन बीते कई चुनावों में नीतीश कुमार ने विकास को विवाद बनाया जहां अब महागठबंधन की सरकार बनाने के बाद नीतीश कुमार इस विकास में केंद्र की मौजूदा सरकार के कार्य पर सवाल दाग रहे हैं। अब उनके निशाने पर PM नरेंद्र मोदी और बीजेपी हैं।

आपको बता दें की विधानसभा में विश्वासस मत पर चर्चा के दौरान नीतीश कुमार ने बीजेपी नेता लाल कृष्ण आडवाणी और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का नाम लेकर उनकी तारीफ की, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बिना नाम लिए उनपर तंज कस दिया। बिहार के विकास में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए नीतीश कुमार ने कहा, बिहार में गांव-गांव तक सड़कें बनी हुई है। ये सड़कें केंद्र की देन नहीं हैं इस पर राज्यि सरकार ने काम किया और अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने बिहार के गांवों तक सड़क पहुंचाने का फैसला किया था।

इतना ही नही नीतीश ने इशारों ही इशारों में डबल इंजन की पिछली सरकार में पीएम मोदी पर बात ना मानने का दोष लगाया और इसे पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय बनाने के अनुरोध को इनकार किए जाने के घटना से स्प्ष्ट भी किया। हालफ़िलहाल के दिनों की बात करें तो जा‍ति आधारित गणना को लेकर मुख्यडमंत्री नीतीश कुमार का स्टैंभड पीएम मोदी से अलग है। जहां केंद्र सरकार जाति आधारित गणना के खिलाफ है तो वहीं मुख्यकमंत्री नीतीश कुमार हर हाल में जातिवार गणना कराने की घोषणा कर चुके हैं।

वहीं बिहार में बीजेपी को छोड़ अन्य सभी प्रमुख दल इसमें नीतीश कुमार के साथ हैं तो वहीं नीतीश कुमार इसे विकास और समाज कल्याकण योजनाओं के बेहतर कार्यान्वतयन से जोड़ते हैं। जहां अब बिहार में इस मुद्दे पर बीजेपी और पीएम मोदी अकेले पड़ते दिख रहे हैं…