बिहार में एम्बुलेंस पर तकरार : राजनीतिक द्वेष की पराकाष्ठा पार, देर रात अदालत खुलवाकर पप्पू यादव को भेजा जेल

32 वर्ष पुराने मामले की खोली गई फ़ाइल

नई दिल्ली। जन अधिकार पार्टी सुप्रीमो और पूर्व सांसद पप्पू यादव की गिरफ्तारी 32 साल पुराने मामले में हुई है। पटना में पप्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद अब उनको मधेपुरा ले जाया गया। मंगलवार सुबह में पटना स्थित आवास से पप्पू यादव की गिरफ्तारी हुई तो लॉकडाउन के उल्लंघन समेत अन्य मामलों में अरेस्टिंग के कयास लगाए जा रहे थे लेकिन शाम होते-होते मामला मधेपुरा से जुड़े एक केस का निकला।

पेशी के लिए रात 11 बजे कोर्ट को खोला गया

रात के लगभग 10:50 बजे 30 से अधिक गाड़ियों के काफिले के साथ पप्पू यादव को मधेपुरा कोर्ट लाया गया। पप्पू यादव की पेशी के लिए रात 11 बजे मधेपुरा सिविल कोर्ट को खोला गया।न्यायिक दंडाधिकारी सुरभि श्रीवास्तव ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये पूर्व सांसद को रिमांड टू जेल का आदेश देते हुए 14 दिन के न्यायिक हिरासत में बीरपुर (सुपौल) जेल भेज दिया और बेहतर इलाज की व्यवस्था का भी आदेश दिया।‌ रात में करीब 12 बजे प्रशासन उन्हें बीरपुर जेल लेकर चली गई।

“जो मामला हाई कोर्ट में लंबित है, उस मामले में कोरोना काल मे गिरफ्तारी क्या जरूरी थी?” : पप्पू यादव

जन आधिकार पार्टी प्रमुख पप्पू यादव की गिरफ्तारी के विरोध में उनके समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। कल गिरफ्तारी के बाद में कई घंटे तक पप्पू यादव को गांधी मैदान थाने में बिठा कर रखा गया। गिरफ्तारी के बाद पप्पू यादव ने ट्वीट किया कि “सरकारों को कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने की तैयारी करनी चाहिए तो पप्पू यादव से लड़ रहे हैं. हमारे साथ सेवा में, मदद में, जिंदगी बचाने में प्रतिस्पर्धा करो न! फंसाने और जेल भेजने की साजिश में समय जाया क्यों कर रहे हो? पूरे बिहार में मामला खोज रहे हैं,कैसे फंसाकर अपनी नाकामी छुपाएं.”

रूडी एंबुलेंस मामले को लेकर सुर्खियों में आए थे पप्पू यादव

पप्पू यादव ने तीन दिन पहले सांसद मद से खरीदे गए एंबुलेंस के बेकार पड़े होने को लेकर खुलासा किया था। उन्होंने खुद उस स्थल पर पहुंचकर एंबुलेंसों की तस्वीर ली थी। उन्होंने सारण से भाजपा सांसद और पूर्व केंद्रीय नेता राजीव प्रताप रूडी पर इसके लिए वीडियो के साथ गंभीर आरोप लगाए थे। ठीक इसी के बाद इसके बाद बिना अनुमति के सामुदायिक भवन में अपने समर्थकों के साथ जाने और एंबुलेंस में तोड़फोड़ किए जाने के खिलाफ पप्पू यादव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। पप्पू यादव ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा है कि उन्हें भाजपा के इशारे पर एक गहरी साजिश के तहत जेल भेजा जा रहा है।

Leave a Reply