Palghar Mob Lynching Live Updates: साधुओं की हत्या पर गुस्सा, योगी आदित्यनाथ ने की उद्धव ठाकरे से बात

महाराष्ट्र के पालघर में बीते दिनों हुई मॉब लिंचिंग के खिलाफ देशभर में गुस्सा है। 17 अप्रैल को लॉकडाउन के बीच में कुछ लोगों ने साधुओं को बच्चा चोर समझकर पीट-पीटकर मार डाला था। 3 मृतकों में 2 साधू थे। मामला गर्माने के बाद महाराष्ट्र पुलिस ने 110 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है और 101 लोगों को गिरफ्तार किया है। मामले पर अब राजनीति भी शुरू हो गई है। भाजपा उद्धव ठाकरे सरकार से जवाब मांग रही है और दोषियों के खिलाफ सख्त कदम उठाने की मांग की जा रही है।

मृतकों के नाम सुशील गिरी, चिकने महाराज और निलेश तिलघाटे हैं।
साधुओं का दावा है कि उनके साथी पुलिस की अनुमति लेकर जा रहे थे।
साधू रामगिरी महाराज के अंतिम संस्कार में शामिल होने सूरत जा रहे थे।

विवेक रंजन अग्निहोत्री ने अपने ट्वीट में सीएमओ महाराष्ट्र को टैग करते हुए लिखा, ‘भारत की सबसे बड़ी परेशानी है कि हम गिरफ्तारी से ही आसानी से संतुष्ट हो जाते हैं, जबकि सवाल यह है कि पुलिस की मौजूदगी में यह सब हुआ कैसे? मैं हैरान हूं कि बाला साहेब क्या कहते? खैर, सबसे पहले वह अपने बेटे को भटकने की इजाजत नहीं देंते।’

पूर्व क्रिकेटर इरफान पठान ने बताया शर्मनाक

महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं समेत तीन लोगों की हत्या को पूर्व भारतीय क्रिकेट इरफान पठान ने शर्मनाक करार दिया है। इरफान ने इस घटना को लेकर एक ट्वीट किया है और दुख जताया है। इरफान पठान ने लिखा, ‘पालघर मॉब लिंचिंग की तस्वीरें देखकर बेहद दुख हुआ। काफी भयानक और बर्बर। शर्मनाक।’