पाकिस्तानी पीएम ने ली चीनी कोरोना डोज़

पांच लाख कोरोना टीके भी दान में मिले

इस्लामाबाद। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने बीते दिन कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक ली। इससे एक दिन पहले दक्षिण एशियाई देश को चीन से दान में कोरोना वैक्सीन की पांच लाख डोज मिले हैं। चीन ने दूसरी बार सिनोफोर्म वैक्सीन  को पाकिस्तान भेजा है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने रावलपिंडी के नूर खान एयरबेस से इस वैक्सीन को प्राप्त किया। इससे पहले, 1 फरवरी को सिनोफोर्म की 500,000 खुराक इमरान सरकार को चीन सरकार ने दान की थी। पाकिस्तान देश में वर्तमान में केवल यही एक टीका उपलब्ध है। वहीं पकिस्तान ने अभी तक अपना कोई टीका नही बनाया है। चीनी वैक्सीन के मिलने के बाद ही देश में टीकाकरण अभियान शुरू किया गया। पाकिस्तानी राष्ट्रपति आरिफ अल्वी भी कोरोना वायरस का टीका लगवा चुके हैं।


 टीकाकरण की गति धीमी

 बता दें कि, पाकिस्तान में अब तक 615,810 मामले सामने आए हैं। 10 मार्च को आम जनता के  कोरोना का टीका लगाना शुरू किया था। जिसमे 60 साल या उससे अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण हो रहा है। वहीं फरवरी  में स्वास्थ्य कर्मचारियों को खुराक दी गयी थी। अल जज़ीरा के मुताबिक, पाकिस्तान में टीकाकरण धीमी गति से हो रहा है। लोग वैक्सीन लगवाने में संकोच कर रहे है।


वैक्सीन और इमरान की निर्भरता

वैक्सीन के लिए पाकिस्तान दूसरे देशों  पर पूरी तरह से  निर्भर है।  अधिकारियों के मुताबिक, पाकिस्तान को इस महीने पुणे स्थित इंस्टीट्यूट में बनी एस्ट्राजेनेका के 2.8 मिलियन डोज मिलने वाले है। गावी फाउंडेशन यह टीका देने वाला है। सिनोफोर्म और एस्ट्राजेनेका के अलावा, पाकिस्तान ने रूस के स्पुतनिक और चीन के कैनसीनो बियोलॉजिक्स इंक के टीके को इमरजेंसी उयोग के लिए मंजूरी दे दी है।


भारत विश्वगुरु बनने की ओर

कोरोना काल में भारत ने पूरे विश्व में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। पाकिस्तान सहित 65 देशों को हिन्दुतान कोविड की वैक्सीन मुहैया करा रहा है। भारत ने श्रीलंका, भूटान, मालदीव, बंगलादेश, नेपाल, म्यांमार सहित अनुदान वाले देशों को करीब 56 लाख वैक्सीन की खुराक पहुंचाई है।

Leave a Reply