इन्तेहा हो गई, इंतज़ार की : उत्तराखंड देवभूमि पर पहली बार पहुंचेगी 120 टन प्राणवायु

नई दिल्ली। कोरोना काल में रेलवे ट्रैक पर सांसों को लेकर दौड़ती ऑक्सीजन एक्सप्रेस प्रतिदिन नया रिकॉर्ड कायम कर रही है। भारतीय रेलवे इन दिनों कहीं कम, कहीं ज्यादा देश के कोने-कोने में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम कर रही है। इसी कड़ी में, झारखंड से 120 टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) लेकर एक ऑक्सीजन एक्सप्रेस रवाना हो चुकी है। बता दें इस ट्रेन के जरिए उत्तराखंड के लिए ऑक्सीजन भेजी जा रही है।

आज रात 11 बजे करीब पहुंचेगी पहली ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’

उत्तराखंड के लिए भेजी रही यह पहली ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ मंगलवार देर रात तक अपने गंतव्य पर पहुंचेगी। इससे कोरोना संकट में ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे उत्तराखंड की चिकित्सा व्यवस्था को सुचारू रखने में बड़ी मदद मिलेगी।

छह टैंकरों में 120 टन मेडिकल ऑक्सीजन

रेल मंत्रालय ने बताया कि उत्तराखंड के हर्रावाला स्टेशन पर आज रात 11 बजे के करीब पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन पहुंचेगी। यह ट्रेन झारखंड के टाटानगर से छह टैंकरों में 120 टन मेडिकल ऑक्सीजन लेकर आज तड़के दो बजे रवाना हुई।

पुणे में भी पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस

रेलवे के अनुसार, आज रात पुणे में भी पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस 55 टन ऑक्सीजन लेकर पहुंचेगी। यह ट्रेन ओडिशा के अंगुल से चार टैंकरों में ऑक्सीजन लेकर रास्ते में है। इसके पुणे डिवीजन में लोनी स्टेशन पर रात 11 बजे के बाद पहुंचने की उम्मीद है।

Leave a Reply