सदन में विपक्ष का हंगामा, सीएम ने दिया जवाब

किसान आंदोलन व उन्नाव की घटना को लेकर विपक्ष ने जमकर हंगामा

मुख्यमंत्री का जवाब सुने बिना ही वॉकआउट कर गए नेता प्रतिपक्ष  

लखनऊ। विधान सभा सत्र के दुसरे दिन शुक्रवार को किसानों के आंदोलन और उन्नाव की घटना को लेकर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया। जिसकी वजह से प्रश्नकाल नहीं हो सका और सदन की कार्यवाही लगभग सवा घंटे स्थगित रही। वहीं उन्नाव की घटना को लेकर बसपा ने वाकआउट किया। शुक्रवार सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सपा के वरिष्ठ सदस्य और नेता प्रतिपक्ष कार्यवाही रोककर कृषि कानूनों और किसान आंदोलन को लेकर चर्चा कराए जाने की मांग करने लगे। वहीं विधानसभा अध्यक्ष ने नेता प्रतिपक्ष की मांग स्वीकार नहीं की तो सपा के साथ कांग्रेस के सदस्य भी वेल में आ गए। हंगामें और शोरशराबे के चलते पहले साढ़े बारह बजे तक, फिर पन्द्रह मिनट के लिए तीन बार सदन की कार्यवाही स्थगित हुई। इसके अलावा सदन में विभिन्न क्षेत्रों के सदस्यों द्वारा क्षेत्र से संबधित याचिकाएं भी पटल पर रखी गयी। सदन शनिवार और रविवार की छुट्टी के चलते आज और कल स्थगित रहेगा, सदन की अगली कार्यवाही सोमवार को होगी। 

विपक्ष घड़ियाली आंसू बहा रहा: मुख्यमंत्री

सदन में मौजूद होने के नाते मुख्यमंत्री और नेता सदन योगी आदित्यनाथ ने किसान आंदोलन को लेकर विपक्ष द्वारा बहाए जा रहे आंसुओं को घड़ियाली बताया। उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों को लेकर किसान नहीं दलाल लोग परेशान है। जिन लोगों को कषि कानूनो के बारे में नहीं मालूम वहीं लोग आंदोलन को लेकर हो हल्ला मचा रहे है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार के पिछले एक साल के कार्यकाल में किसानों को जितना धान और गन्ने का भुगतान किया गया उतना पिछले पांच साल की सरकारों में नहीं किया गया।