दिल्ली सरकार ने प्रवासी मजदूरों को उनके हाल पर छोड़ दिया : सिद्धार्थ नाथ सिंह

योगी सरकार ने किया प्रवासियों के लिए बसों का इंतजाम

लखनऊ। कोरोना से बिगड़ते हालातों को देखते हुए सोमवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आगामी 6 दिनों के लिए दिल्ली में लॉकडाउन की घोषणा कर दी। जिसके बाद से ही बड़ी संख्या में लोग अपने घर की ओर पलायन करने लगें। सोमवार को आनंद विहार बस अड्डे और रेलवे स्टेशन पर प्रवासी मजदूरों की भारी भीड़ थी। यही नही पिछले साल की तरह बहुत सारे लोग पैदल ही अपने घरों के लिए निकल गए। नोएडा एवं गाजियाबाद की सीमा पर अधिक संख्या में प्रवासी मजदूरों को देखकर योगी सरकार ने इस लोगों को उनके घर पहुंचाने के लिए बसों का इंतजाम किया है।

दिल्ली सरकार पर साधा निशाना

इसी बीच यूपी सरकार में मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने दिल्ली सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि केजरीवाल सरकार ने इन मजदूरों को उनके हाल पर छोड़ दिया है।

प्रवासियों को मूल स्थानों पर पहुंचाया जाएगा

उन्होंने कहा, ‘दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा लॉकडाउन की घोषणा किए जाने के बाद गाजियाबाद और नोएडा की सीमा पर प्रवासियों की भीड़ देखी गई। दिल्ली सरकार ने प्रवासी मजदूरों को उनके हाल पर छोड़ दिया है। इसे देखते हुए यूपी के मुख्यमंत्री ने करीब 70,000 से एक लाख मजदूरों की मदद करने के लिए पिछली रात बसों का इंतजाम किया। इन मजदूरों को इनके मूल स्थानों पर पहुंचाया जाएगा।’

मंत्री ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने बसों में भरकर इन मजदूरों को दिल्ली की सीमा पर छोड़ दिया है। इनमें ज्यादातर यूपी और बिहार के प्रवासी मजदूर हैं।

Leave a Reply