जिस्मफ़रोशी पर एक्शन में नोएडा पुलिस, स्पा सेन्टर, मसाज पार्लर बंद

कमिश्नर आलोक ने कसी नकेल, नये सिरे से होगी जांच

एनसीआर। 
इंसान कहीं भी रहे, उसकी शोहरत और उसके द्वारा किये गये अच्छे कार्य उसकी कीर्ति का पहले ही बखान करते हैं। इस समय नोएडा और गौतमबुद्धनगर में भी पुलिस का हाल कुछ ऐसा ही है। जहां, नोएडा पुलिस कमिश्नर के एक आदेश ने जिस्मफ़रोशी पर लगाम लगाने का तो काम किया ही है। उससे ज़्यादा उनके इस काम की चर्चा और तारीफ़ आम लोग कर रहे हैं।

जिस्मफ़रोशी पर लगाया ब्रेक

दिल्ली से सटे यूपी के नोएडा और गौतमबुद्ध नगर के बड़े-बड़े शॉपिंग मॉल में स्पा और मसाज पार्लर की आड़ में जिस्मफ़रोशी का धंधा चल रहा है। पिछले कुछ दिनों से पुलिस की छापेमारी में इसका भांडा फोड़ हुआ। जिसके बाद स्पा और मसाज पार्लरों को बंद करने का फैसला लिया गया। यह फैसला नोएडा के पुलिस कमिश्नर ने लिया।

कमिश्नर का आदेश

नोएडा पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह के अनुसार, अब से फिलहाल जिले में कोई भी स्पा और मसाज पार्लर नहीं चलेंगे। इन सभी स्पा सेंटर की नए सिरे से जांच की जाएगी। कोई मालिक बिना जाँच प्रक्रिया पूरी किये यदि सेंटर खोलेगा, तो उस क्षेत्र के थाना प्रभारी को दोषी माना जाएगा।

यहां हो रही थी जिस्मफ़रोशी

हालांकि, कई स्पा सेंटर ऐसे भी हैं, जहाँ शुद्ध रूप से स्पा थेरेपी का उपयोग चिकित्सकीय ढंग से होता है। लेकिन, ज्यादातर स्पा सेंटर में मसाज पार्लर की आड़ में जिसम्फरोशी का धंधा चल रहा था। चाहे वो वेब मॉल हो या सेक्टर 12 , सेक्टर 22 और  शनिवार को शाप्रिक्स मॉल में कथित स्पा सेंटर में जिसम्फरोशी का धंधे का पर्दाफाश हुआ था।

स्पा सेन्टरों में होगी पारदर्शिता

नोएडा के एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि फिलहाल के लिए सभी स्पा सेंटरों को बंद कर दिया है। एसीपी और थाना प्रभारी को सख्ती से आदेश दिया गया है। नए सिरे से जांच होगी सभी स्पा सेंटर की उसके बाद ही दोबारा खोलने की इजाजत होगी। स्पा सेंटर में अवैध कारोबार को रोकने के लिए पुलिस अपने स्तर पर एक नियमावली बना रही है। नियमानुसार स्पा सेंटर के दस्तावेज पूरी तरह बंद नही होंगे। ट्रान्सपेटेन्ट पर्दे होंगे। शीशे लगे होंगे, जो पारदर्शी होंगे।

Leave a Reply