Married Daughters: दुर्घटना में माता-पिता की मौत हो जाने पर मुआवजे की हकदार हैं विवाहित बेटियां- कर्नाटक हाई कोर्ट

साल 2012 में उत्तर कर्नाटक में हुए दुर्घटना में मां की मौत के बाद मिले मुआवजे पर बेटियों ने दावा किया जिसपर हाई कोर्ट में इंश्योरेंस कंपनी ने आपत्ति जताते हुए याचिका दायर की । इसमें कहा कि विवाहित बेटियों को मुआवजे की राशि लेने का हक नहीं है।

कर्नाटक हाई कोर्ट ने विवाहित बेटियों के लिए अहम फैसला सुनाया। कोर्ट ने कहा कि किसी दुर्घटना में माता-पिता की मौत होने के बाद इंश्योरेंस कंपनियों से मिलने वाले मुआवजे में विवाहित बेटियां भी हकदार हैं। कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश का भी जिक्र किया जिसमें बेटों को मुआवजे का अधिकार देने की बात कही गई है। हाई कोर्ट ने कहा, ‘विवाहित बेटे हों या विवाहित बेटियां दोनों ही माता-पिता की मौत पर मिलने वाले मुआवजे के हकदार हैं। इसमें भेदभाव नहीं किया जा सकता है।