पायलट की वापसी से कई विधायक नाराज

राजस्थान में काफी सियासी उठापटक के बीच मंगलवार को देर रात कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई।

बैठक में कई विधायकों ने पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और अन्य बागी विधायकों की पार्टी में  वापसी को लेकर नाराजगी प्रकट की।

इस बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बदले राजनीतिक समीकरणों से विधायकों को अवगत कराया और सभी को विश्वास में लेने की कोशिश की लेकिन कई विधायक पायलट की वापसी से नाराज दिखे।

पार्टी सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री गहलोत ने अपने संबोधन में सभी विधायकों को मौजूदा राजनीतिक संकट में साथ देने के लिए धन्यवाद कहा। उन्होंने कहा कि हमारे विधायक ने जिस तरह से हमारा साथ दिया यह किसी भी पार्टी के लिए अपने आप में एक इतिहास है।

यहां मौजूद विधायक लोकतंत्र  इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस तरह के बयानों की परवाह नहीं करनी चाहिए हमें आलाकमान पर पूरा भरोसा है।

आलाकमान ने जो भी फैसला किया है वह उचित और सर्वमान्य है। पायलट की वापसी पर विधायकों की नाराजगी पर मुख्यमंत्री गहलोत ने सबसे कहा कि आलाकमान का आदेश सर्वोपरी होता है।

इसके साथ ही उन्होंने आश्वस्त किया कि जिस भी विधायक ने इस संकट में पार्टी के प्रति निष्ठा रखी है उस विधायक के किसी भी हित के साथ समझौता नहीं होगा। इन विधायकों की हर बात सुनी जाएगी।

बता दें कि कांग्रेस व उसके समर्थक विधायक लगभग 11 दिन से यहां के एक निजी होटल में ठहरे हुए हैं। ये विधायक बुधवार को राजधानी जयपुर लौटेंगे जहां 14 अगस्त से विधानसभा का सत्र  शुरू होने वाला है।

नहीं रहे जाने-माने शायर राहत इंदौरी, हार्ट अटैक के कारण हुआ निधन

निर्दलीय विधायक गहलोत से मिले

गहलोत के जैसलमेर रवाना होने से पहले निर्दलीय विधायक ओमप्रकाश हुडला, सुरेश टांक और खुशवीर सिंह ने मुख्यमंत्री निवास में उनसे मुलाकात की।

गहलोत का सम्मान है, पर मुझे काम के मुद्दे उठाने का हक है: पायलट

पायलट ने कहा, गहलोत मुझसे बड़े हैं। मैं उनका सम्मान करता हूं, लेकिन मुझे काम के मुद्दे उठाने का हक है। उन्होंने कहा, मुद्दा यह नहीं कि मैं किसी का कितना विरोध करता हूं, लेकिन ऐसी भाषा का इस्तेमाल नहीं करता।

15 अगस्त को न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर पर भी लहराएगा तिरंगा

राजनीति में निजी दुश्मनी की जगह नहीं होती। पायलट उस बयान पर टिप्पणी दे रहे थे जिसमें गहलोत ने उन्हें निकम्मा कहा था। पायलट ने कहा, मैंने कभी पार्टी की विचारधारा, पार्टी नेतृत्व के खिलाफ कुछ नहीं बोला। हम 20 साल से कांग्रेस कार्यकर्ता हैं। जो जिम्मेदारी दी हमने पूरी की। मैंने कोई पद नहीं मांगा, बल्कि कार्यकर्ताओं के सम्मान और कामकाज से जुड़े मुद्दे उठाए। जिस तरह राजद्रोह की धारा में नोटिस दिया और फिर उसे वापस लिया गया, वह गलत था।

पीएम ने की राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक

भाजपा ने टाली विधायक दल की बैठक

राजस्थान के ताजा सियासी घटनाक्रम के बीच भाजपा ने मंगलवार को होने वाली विधायक दल की बैठक टाल दी है। भाजपा ने सभी विधायकों को जयपुर स्थित पार्टी मुख्यालय बुलाया था। नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि अब यह बैठक 13 अगस्त को होगी।

सड़क दुर्घटना में होनहार छात्रा की मौत, अमेरिका से छुट्टियों में भारत आई हुई थी

माया ने साधा कांग्रेस पर निशाना

अभी भले लगता हो कि राजस्थान सरकार सुरक्षित है, लेकिन आगे कभी भी गहलोत और पायलट में विवाद हो सकता है। इनके आंतरिक विवाद का खामियाजा प्रदेश की जनता को भुगतना पड़ रहा है।

– मायावती, बसपा सुप्रीमो-