‘वसूली’ कर रहे महाराष्ट्र के ‘गृहमंत्री’: प्रकाश जावडेकर

संसद में छाया रहा महाराष्ट्र का मुद्दा, शिवसेना ने किया बचाव

नई दिल्ली। देश में एक ओर कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है, वहीं दूसरी ओर आये दिन सियासत के भी नये-नये रंग देखने को मिल रहे हैं। देश की संसद में आज महाराष्ट्र सरकार के गृहमंत्री अनिल देशमुख का मुद्दा छाया हुआ है। अभी, केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने राज्यसभा में कहा कि, ‘महाराष्ट्र के गृहमंत्री वसूली कर रहे हैं। सारा देश देख रहा है।’

लोकसभा में भी हंगामा, शिवसेना ने किया बचाव
उधर, लोकसभा में भी यह मुद्दा हावी रहा। सांसद राकेश सिंह ने कहा कि, यह पहली बार है कि जब किसी एपीआई के समर्थन में मुख्यमंत्री ने प्रेस वार्ता की। उसी एपीआई को 100 करोड़ रुपए वसूलने का लक्ष्य भी दिया गया था। शिवसेना के विनायक राउत ने बचाव करते हुए कहा कि, महाराष्ट्र में सरकार को गिराने की कोशिशें काफी समय से जारी हैं। परमबीर सिंह के खिलाफ लगे आरोपों की जांच हो रही है।

अनिल पर 100 करोड़ मांगने का आरोप
बीते करीब तीन दिन से महाराष्ट्र में पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह के लेटर बम ने देश की राजनीति में खलबली मचा दी है। महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख पर पूर्व कमिश्नर ने आरोप लगाया था कि उन्होनें प्रतिमाह 100 करोड़ रुपए की मांग की थी। यह लेटर कुछ ऐसा फूटा कि शिवसेना भी सकते में आ गई। वहीं, अनिल देशमुख ने भी शरद पवार से मुलाकात कर अपनी बात रखी थी।

परमबीर ने संभाला चार्ज
पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह आज सुबह अपने नये दफ्तर पहुंचे। अब उन्हें, डीजी होमगार्ड का पदभार मिला है। हालांकि, आज सुबह वे मीडिया से दूरी बनाये रहे और किसी से कोई बात नहीं की।

Leave a Reply