भारत में अनुशासन की कमी, प्रतिस्पर्धा भी पेश नहीं कर पाए: पूर्व खिलाड़ी

अमर भारती : बिशन सिंह बेदी, वीवीएस लक्ष्मण और संजय मांजरेकर सहित पूर्व भारतीय क्रिकेटरों ने सोमवार को न्यूजीलैंड में टेस्ट श्रृंखला में भारत की 0-2 की हार के बाद विराट कोहली की अगुआई वाली टीम की रणनीति पर सवाल उठाए। भारत को क्राइस्टचर्च में दूसरे टेस्ट में तीन दिन के भीतर सात विकेट से हार का सामना करना पड़ा जबकि वेलिंगटन में टीम ने पहला टेस्ट 10 विकेट से गंवाया था। बेदी ने ट्वीट किया, ‘‘क्या कोई बता सकता है कि न्यूजीलैंड ने दुनिया की नंबर एक टीम पर पूरी तरह से दबदबा कैसे बनाया? मैं सही कारण नहीं समझ पा रहा हूं।

क्या किसी व्यक्ति को अपमानित किए बगैर कोई मेरी मदद कर सकता है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस बीच, धैर्य रखने, शांत चित्त रहने और प्रतिबद्धता दिखाने के लिए न्यूजीलैंड की सराहना कीजिए।’’ लक्ष्मण का मानना है कि श्रृंखला के दौरान भारतीय टीम अनुशासित नहीं थी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘भारत को हराने और टेस्ट श्रृंखला आसानी से जीतने के लिए न्यूजीलैंड को बधाई। भारत जरूरी अनुशासन नहीं दिखा पाया और यह बेहद निराशाजनक है।’’ पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने कहा कि 2018 के इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका दौरों के विपरीत इस श्रृंखला में कोहली की टीम प्रतिस्पर्धा भी पेश नहीं कर पाई।

चोपड़ा ने कहा, ‘‘कोहली के नेतृत्व में भारत ने विदेशी सरजमीं पर अधिकतर टेस्ट मैच में अच्छी प्रतिस्पर्धा पेश की है लेकिन यह श्रृंखला अलग थी। भारत ने सिर्फ हिस्सा लिया। बल्लेबाजी और न्यूजीलैंड के निचले क्रम को आउट करने में विफलता ने भारत को निराश किया।’’ ट्विटर पर सवाल-जवाब के दौरान पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर ने राष्ट्रीय टीम को सलाह दी। मांजरेकर ने कहा, ‘‘पुछल्ले बल्लेबाजों को आउट करने का जरूरत से अधिक प्रयास कर रहे हैं? सर्वश्रेष्ठ यह है कि सामान्य योजना अपनाइए जो आपने शीर्ष क्रम के खिलाफ अपनाई। अब पुछल्ले बल्लेबाजों को पहले बाउंसर और फिर यार्कर फेंककर आउट करना आसान नहीं है।’’