जानिए क्यों कहते हैं, मुस्कुराइये, आप लखनऊ में हैं…

लखनऊ। तहज़ीब-ओ-अदब का शहर लखनऊ। नाम तो सुना ही होगा आपने। बड़ा लम्बा और उम्दा इतिहास है साहब इस शहर का। लखनऊ की शाम के चर्चे तो बड़ी दूर-दूर तक हैं। तो आइये, आज हम आपको अपनी नज़र से सैर कराते हैं इस शहर की। अंग्रेजी वालों के लिए यूपी तो हिन्दी वालों के लिए उत्तर प्रदेश… जी, इसकी राजधानी है लखनऊ।

श्रीराम ने लक्ष्मण को भेंट किया था शहर


यूँ तो नवाबों की यादों को अपने में संजोए लखनऊ की खूबसूरती और इसके ऐतिहासिक स्थलों को तो पूरी दुनिया जानती है, लेकिन, क्या आप को पता है कि लखनऊ को प्राचीन काल में लक्ष्मणपुर और लखनपुर के नाम से जाना जाता था। जरा कारण भी जान लीजिए। भगवान श्री राम ने लक्ष्मण को लखनऊ भेंट किया था। यहां की तहज़ीब के चर्चे तो हर खास-ओ-आम की ज़बान पर हर वक्त रहते हैं। लेकिन यह शानदार पाक शैली के लिए भी पूरी दुनिया में विख्यात है।

चिकन मलतब लखनऊ


ज़नाब, यह बात तो हम बड़े ही फक्र से कहते हैं कि यहां के लोगों में मोहब्बत और अपनापन अभी भी बाकी है। लखनऊ ही वह शहर है, जहां कई वाद्य यंत्र जैसे सितार वगैरह पैदा हुआ। और रही बात चिकन की, तो ज़नाब, आपको आना तो लखनऊ ही पड़ेगा। चिकनकारी का काम पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। यहां हर पुरूष और महिला के वार्डरोब में लखनऊ का चिकन का कपड़ा जरूर मिलता है।

ऐतिहासिक पर्यटन स्थल


लखनऊ के सबसे खास पर्यटन स्थलों में बड़ा इमामबाड़ा, शहीद स्मारक, रेजीडेंसी और भूल-भुलैय्या हैं। इसके अतिरक्त छोटा इमामबाड़ा, हुसैनाबाद क्लॉक टॉवर और पिक्चर गैलरी भी दर्शनीय स्मारक हैं। लखनऊ का चिड़ियाघर, बॉटनिकल गार्डन, बुद्ध पार्क, कुकरैल फॉरेस्टी और सिंकदर बाग जैसे प्राकृतिक छटा वाले स्थल इस शहर को खास और जरूरत से ज्यादा सुंदर बनाते है। यहाँ के कैसरबाग पैलेस, तालुकदार हॉल, शाह नजफ इमामबाड़ा, बेगम हजरत महल पार्क और रूमी दरवाजा आदि भारत के सबसे प्रभावशाली वास्तु संरचनाओं में से एक हैं। यहां पर पर्यटन के लिए दूर-दूर लोग आते है।

शिक्षण संस्थान


लखनऊ में देश के कई उच्च शिक्षा एवं शोध संस्थान भी हैं। जैसे किंग जार्ज मेडिकल कालेज और बीरबल साहनी अनुसंधान संस्थान। यहां भारत के वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद की चार प्रमुख प्रयोगशालाएँ और उत्तर प्रदेश राज्य ललित कला अकादमी हैं। लखनऊ में छः विश्वविद्यालय हैं। भातखंडे संगीत विश्वविद्यालय का नाम यहां के महान संगीतकार पंडित विष्णु नारायण भातखंडे के नाम पर रखा हुआ है। यह संगीत का पवित्र मंदिर माना जाता है। श्रीलंका, नेपाल आदि बहुत से एशियाई देशों एवं विश्व भर से साधक यहां नृत्य-संगीत की साधना करने आते हैं। विश्व के सबसे पुराने आधुनिक स्कूलों में से एक ला मार्टीनियर कॉलेज भी इस शहर में मौजूद है, जिसकी स्थापना ब्रिटिश शासक क्लाउड मार्टिन की याद में की गयी थी।

भाषा-शैली


आप को बता दें कि इस शहर का भारतीय कविता और साहित्य में काफी योगदान रहा है। लखनऊ, उर्दू और हिन्दी भाषा का जन्म स्थान माना जाता है। अवधी यहां की प्रमुख भाषा है।

खान- पान


लखनऊ खाने के पसंदीदा लोगों के लिए जन्नत माना जाता है। अगर आप लखनऊ आए और आपने प्रकाश की कुल्फी और लखनऊ की चाट नहीं खाई तो क्या खाया। ऐसे स्वादिष्ट पकवान कि आप उंगलियां चाटते रह जाएंगें।

Leave a Reply