किल-कोरोना अभियान : अनोखे अंदाज में ‘कोरोना मुक्ति’ का संदेश देंगे मध्य प्रदेश के गांव

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में कोरोना का असर कमजोर पड़ गया है। ऐसे में जिन गांवों को कोरोना से मुक्ति मिली है, अब वे यह संदेश कुछ अलग अंदाज में देने के बारे में विचार कर रहे हैं। दरअसल, इससे सबको खबर रहेगी कि यह गांव कोरोना मुक्त हो चुका है।

जानिए, आख़िर यह है इसका उद्देश्य

इसके लिए अब ग्रामों से कोरोना को अलविदा कहने वाले पोस्टर लगाए जाएंगे। इसके पीछे का उद्देश्य यह बताया जा रहा है कि लोग वहां किसी भय में जीवन यापन करने से मुक्त हो सकें। वहीं, जिन गांवों में कोरोना का संकट होगा, वहां उसे दूर करने के लिए सामूहिक प्रयास करना आसान हो सकेगा।

लगाये जाएंगे इस नारे के बैनर

इस संबंध में नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री हरदीप सिंह डंग ने कहा कि, जिन गांवों में कोरोना का संक्रमण समाप्त हो गया है, उन गांवों में बैनर लगाएं कि ‘हमारा गांव कोरोना मुक्त’ है। इसका प्रचार-प्रसार अच्छे तरीके से कराएं, जिससे अन्य गांवों में भी जागरूकता आएगी और वे भी कोरोना संक्रमण की रोकथाम करने के प्रयासों को गति देंगे।

क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के साथ समीक्षा बैठक में लिया निर्णय

उल्लेखनीय है कि, खरगोन जिले में विकासखंड स्तर पर कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए गठित क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक मंत्री हरदीप सिंह डंग ली। बैठक में किल-कोरोना अभियान, कोरोना किट और वैक्सीनेशन पर भी विस्तृत चर्चा की गई और उसी में यह निर्णय लिया गया है।

मंत्री को सौंपा ज्ञापन

इसके साथ ही मंत्री डंग को खरगोन मेडिकल कॉलेज संघर्ष समिति द्वारा मेडिकल कॉलेज खोले जाने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा। डंग ने आश्वस्त किया गया कि वे अपनी ओर से खरगोन को यह महत्वपूर्ण सौगात मिले, इसके पूरे प्रयास करेंगे।

Leave a Reply