भारतीय मूल के डॉक्टर को मिली अमेरिका में कोरोना को थामने की जिम्मेदारी

नई दिल्ली। अमेरिका में कोरोना का कहर जारी है, महामारी की मार झेल रहे अमेरिका में मौत के आंकड़े भयानक होते जा रहे हैं। ऐसे में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइेडन के नए सर्जन जनरल भारतीय- अमेरिकी विवेक मूर्ति ने कहा कि “उनकी प्राथमिकता कोरोना वायरस को खत्म करना है।”

विवेक मूर्ति को 57 अमेरिकी सीनेटर्स ने वोट किया

बता दे कि बीते मंगलवार को अमेरिकी सीनेट ने वोटिंग के जरिये विवेक मूर्ति को सर्जन जनरल चुना। विवेक मूर्ति को 57 अमेरिकी सीनेटर्स ने वोट किया,जबकि 43 सीनेटर्स ने उनके नाम पर संतुष्टि नहीं जताई। इस तरह बहुमत के साथ भारतीय-अमेरिकी मूर्ति को बाइडेन के सर्जन जनरल चुने गए। डॉ मूर्ति ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में भी सर्जन जनरल के रूप में काम किया था लेकिन जब 2017 में डोनाल्ड ट्रम्प राष्ट्रपति बने थे तो उन्हें इस पद से हटा दिया गया था।

सीनेट द्वारा चुने जाने के लिए मैं बेहद आभारी हूं

सर्जन जनरल चुने जाने के बाद विवेक मूर्ति ने ट्वीटकर के जरिये कहा “सर्जन जनरल के रूप में एक बार फिर सेवा करने के लिए सीनेट द्वारा पुष्टि किए जाने के लिए मैं बेहद आभारी हूं। हमने पिछले एक वर्ष में एक देश के रूप में बड़ी कठिनाइयों का सामना किया है। मैं हमारे देश को शानदार और हमारे बच्चों के बेहतर भविष्य को बनाने में मदद करने के लिए आपके साथ काम करने के लिए उत्साहित हूं।” मूर्ति के परिवार में भी कुछ लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे। मूर्ति ने सीनेटर्स के समक्ष ये बात रखी कि वह आम लोगों को स्पष्ट, विज्ञान-आधारित मार्गदर्शन बताकर लोगों और परिवारों की रक्षा करने में मदद करना चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.