यमुना एक्सप्रेस वे के मांट टोल पर 30 जुलाई से शुरू होगा भारतीय किसान यूनियन(टिकैत) का अनिश्चित कालीन धरना

मथुरा। संयुक्त किसान मोर्चा के राष्ट्रीय आह्वान पर राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत जी के निर्देशन में व प्रदेश अध्यक्ष ठाकुर राजवीर सिंह जादौन जी के आदेश अनुसार किसान विरोधी काले कानून को लेकर के विगत 8 माह से दिल्ली के बॉडर पर चल रहे किसान आंदोलन के बाबत व क्षेत्रीय समस्याएं जैसे यमुना एक्सप्रेस वे निर्माण के समय किसानों से किए गए वायदा के अनुसार 64.7 का मुआबजा न मिलना व विश्व विख्यात पौराणिक तीर्थ स्थल दाऊजी महाराज ,गोकुल, रमणरेती महावन में दर्शनार्थी के आवागमन हेतु बल्देव मैं यमुना एक्सप्रेस कट,जेवर कट ,यमुना एक्सप्रेस वे के साइड रोड का निर्माण ना होना आदि प्रमुख समस्याओं को लेकर के 30 जुलाई से भारतीय किसान यूनियन(टिकैत) मांट टोल पर अनिश्चित कालीन आंदोलन आहूत करेगी ।नबा गतक्षेत्राधिकारी मांट नेत्रपाल सिंह व उप जिलाधिकारी मांट के साथ बैठ कर के क्षेत्रीय समस्याओं पर विस्तृत चर्चा की जिसमें क्षेत्रीय समस्याओं के निस्तारण का आश्वासन क्षेत्राधिकारी व उप जिलाधिकारी मांट के द्वारा दिया।

बैठक कर आंदोलन की रूपरेखा सेकरायाअवगत

यमुना एक्सप्रेस वे के नोडल अधिकारी राजभान, टोल प्लाजा इंचार्ज रिजबी खान , क्षेत्राधिकारी नेत्रपाल सिंह, उप जिलाधिकारी मांट आरडी राम, थानाध्यक्ष मांट भीम सिंह जावला के साथ बैठक कर आंदोलन की रूपरेखा से अवगत कराया ।

आंदोलन को लेकर के गजेंद्र सिंह परिहार ने अपने संबोधन में बताया कि किसान अन्नदाता है और वह कभी भी अशांति नहीं चाहता आंदोलन शांतिपूर्वक रहेगा जिस तरह से प्रदेश व केंद्र सरकार किसान हितेषी होने का दावा कर रही है लेकिन किसानों के हित में विगत 8 माह से चल रहे आंदोलन एवं 500 से ज्यादा किसानों की शहादत होने पर भी वर्तमान सरकार ने किसानों के प्रति एक शब्द नहीं कहा ऐसी सरकार को किसान हितैषी सरकार नहीं कहा जा सकता आगे आने वाले 2022 और 2024 में ऐसी किसान विरोधी सरकार का भारतीय किसान यूनियन पुरजोर विरोध कर सत्ता परिवर्तन करेगी ।

अवसर परबड़ी तादाद मेंमौजूद रहेकार्यकर्ता

इस अवसर पर बुद्धा सिंह प्रधान जी ,गजेंद्र सिंह परिहार जी जगदीश सिंह परिहार जी भगवान सिंह भैया जी, देवेंद्र सिंह रघुवंशी धीरी सिंह जी, ललित शर्मा जी गणेश तोमर जी, करवा सिंह जी वीरपाल सिंह पबन चतुर्वेदी मुजाहिद कुरैशी गजेंद्र सिंह गावर जी,आनंद पापे, सुशील विश्वेंद्र चौधरी सहित बड़ी तादाद में कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Leave a Reply