अल्पसंख्यक कल्याण और वक्फ विभाग की अहम फाईले हुई गुमशुदा

अमर भारती : यूपी की राजधानी लखनऊ में स्थित बापू भवन स्थित अल्पसंख्यक कल्याण और वक्फ विभाग  से बीते पांच वर्ष में ऑडिट की गई शिया-सुन्नी वक्फ बोर्ड की फाइलें चोरी हो गई। वक्फ बोर्ड के सेक्शन अधिकारी राम भारत ने इस मामले में बुधवार को हजरतगंज पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई है।

फाइलों की चोरी का तथ्य इस कारण और भी महत्वपूर्ण है क्योंकि दोनों ही बोर्ड में आर्थिक अनियमितताओं के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। हालांकि, अभी सीबीआई जांच शुरू होनी है। एफआईआर में उल्लेख किया गया है कि सचिवालय प्रशासन विभाग द्वारा अल्पसंख्यक कल्याण और वक्फ का भी जीर्णोद्धार किया गया था।

इसमें कहा गया है कि अधिकारियों और कर्मियों के लिए अलग-अलग स्थानों पर बैठने की व्यवस्था की गई थी। इसके लिए फाइलों को बापू भवन की चौथी मंजिल से आठवीं मंजिल पर स्थानांतरित किया गया था। सूत्रों का कहना है कि जब वक्फ बोर्ड में अनियमितताओं के बारे में सीबीआई की सिफारिश की गई थी, तो कुछ महत्वपूर्ण पत्रों की तलाश शुरू हुई थी, जो गायब पाए गए थे।

इसके बाद, इस मामले में प्राथमिकी दर्ज करने के निर्देश दिए गए थे। क्या ऑडिट फाइलों का गायब होना महज एक संयोग है या फिर साजिश है, इसकी जांच अब पुलिस को करनी होगी। बोर्ड के पिछले पांच वर्षों के विशेष ऑडिट को 17 मई, 2017 को तत्कालीन समीक्षा अधिकारी अजीम द्वारा चिह्नित किया गया था। तब से फाइल गायब हैं।

रिपोर्ट-खूशबू