महाभियोग की सुनवाई: ‘‘ट्रम्प ने ‘खुलेआम’ सत्ता का दुरुपयोग किया’’

अमर भारती : डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसदों ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग की सुनवाई के दौरान कहा कि ट्रम्प ने राजनीतिक लाभ हासिल करने के लिए खुलेआम और खतरनाक तरीके से अपनी ताकत का दुरुपयोग किया। ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग की सुनवाई के दूसरे दिन सदन के अभियोग प्रबंधकों ने दलीलें पेश करते हुए रिपब्लिकन पार्टी के इस दावे को खारिज किया कि ट्रम्प ने चुनाव में यूक्रेन से पिछले साल मदद लेने के लिए कुछ गलत नहीं किया।

न्यायाधीशों के रूप में बैठे 100 सीनेटरों के बीच अभियोजकों ने पुराने वीडियो चलाए जिनमें राष्ट्रपति के दो निकट बचावकर्ता कह रहे हैं कि सत्ता का दुरुपयोग निश्चित ही ऐसा अपराध है जिसके खिलाफ महाभियोग चलाया जा सकता है। इस वीडियो से व्हाइट हाउस के इस दावे की हवा निकल गई कि कोई विशेष अपराध करने पर ही अमेरिकी संविधान के तहत राष्ट्रपति को हटाया जा सकता है।

महाभियोग प्रबंधकों में से एक और प्रतिनिधि सभा की न्यायिक समिति के अध्यक्ष जेरी नाडलर ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति ट्रम्प ने अपने निजी हित की खातिर किसी अन्य देश से हमारे चुनाव में हस्तक्षेप करने के लिए कह कर अपने कार्यालय की शक्तियों का दुरुपयोग किया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘राष्ट्रपति ने बार-बार, खुलेआम अपनी शपथ का उल्लंघन किया… राष्ट्रपति का आचरण गलत है। यह अवैध और खतरनाक है।’’

सीनेट में अभियोजन पक्ष शुक्रवार तक और ट्रम्प का बचाव पक्ष शनिवार से मंगलवार तक अपना पक्ष रखेगा। डेमोक्रिटक पार्टी के नेता इस बात से वाकिफ हैं कि ट्रम्प को व्हाइट हाउस से बाहर निकालने में उनके सफल होने की संभावना कम है क्योंकि 100 सदस्यीय सीनेट में 53 रिपब्लिकन और 47 डेमोक्रेट हैं।

ट्रम्प के खिलाफ अपने पद का दुरुपयोग करते हुए यूक्रेन पर डेमोक्रेटिक नेता जो बाइडेन के बेटे हंटर बाइडेन के खिलाफ जांच के लिए दबाव बनाने और कांग्रेस की जांच को बाधित करने के आरोप लगे हैं।महाभियोग सुनवाई की अध्यक्षता उच्चतम न्यायालय के चीफ जस्टिस जॉन रॉबर्ट्स कर रहे हैं।