‘कोरोना वायरस की वजह से जिन्होंने अपनी जान गंवाई मैं उनके दुख में शामिल हूं’- मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर वेसाक वैश्विक समारोह में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कहा कि यह जो कोरोना महामारी आई है यह दशकों में, मानवता के सामने आया सबसे बुरा संकट है। जिससे पूरी दुनिया बदल गई है। भारत इस चुनौती का मजबूती से मुकाबला कर रहा है और इसमें टीके की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है।

हम उनके दुख में शामिल हैं।

उन्होंने इस महामारी से जो लोग मरे उनके प्रति संवेदना व्यक्त की और कहा कि इस महामारी में जिन्होंने भी अपनो को खोया और जो इससे पीड़ित रहे, वह उनके दुख में शामिल है।

कोरोना ने दुनिया को बदल दिया

मोदी ने कहा, ‘कोविड-19 दशकों में मानवता के सामने आया सबसे बुरा संकट है, हमने पिछली एक सदी में ऐसी महामारी नहीं देखी। कोरोना ने दुनिया को बदलकर रख दिया है। कोविड-19 के बाद पृथ्वी पहले जैसी नहीं रहेगी और हम घटनाओं को आने वाले समय में कोविड से पूर्व या कोविड से बाद की घटना के रूप में याद करेंगे।’

भारत को अपने वैज्ञानिकों पर गर्व

उन्होंने आगे कहा, ‘अब इस महामारी को लेकर, बेहतर समझ विकसित हो गई है। हमारे पास टीके उपलब्ध हैं जो लोगों की जान बचाने और महामारी को हराने के लिए महत्वपूर्ण है। भारत को अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है।’

Leave a Reply