इस अस्पताल के स्टाफ पर कोरोना का कहर

एक वरिष्ठ सर्जन की कोरोना से मौत, 27 से दे रहे थे सेवा

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ने देशभर में हाहाकार मचा रखा है। जिसके चलते कोविड मरीजों के इलाज में जुटे डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ के संक्रमित होने और जान गंवाने की खबरें लगातार सुनने को मिल रही हैं। देशभर में कोरोना वायरस ने इस दौरान सेवा कर रहे वर्करों को अपनी चपेट में ले लिया है। कोरोना वायरस की दूसरी वेव में तो यह स्थिति और भयावह हो गयी है। कई अस्‍पतालों में तो स्‍टॉफ के कई सदस्‍य एक साथ पॉजिटिव पाए गए हैं। दिल्‍ली के मधुबन चौक स्थित सरोज अस्पताल में भी बड़ी संख्‍या में लोग संक्रमित हुए हैं।

हॉस्पिटल में 80 से ज्यादा लोग संक्रमित

बता दें कि पिछले डेढ़ महीने में सरोज हॉस्पिटल के 80 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इसमें हॉस्पिटल के डॉक्टर, स्टाफ और उनके परिवार के लोग शामिल हैं। हालांकि इन लोगों कई अब ठीक हो चुके हैं, वहीं कुछ को इमरजेंसी में हॉस्पिटल में भर्ती भी होना पड़ा है। भर्ती लोगों में से अधिकतर लोगों की हालत अब ठीक है। लेकिन इसी बीच 2 दिन पहले अस्पताल ने अपने एक वरिष्ठ डॉक्टर को कोरोना के कारण खो दिया है। डॉक्टर ए. के. रावत अस्पताल में बतौर सर्जन 27 से अपनी सेवाएं दे रहे ठगे जिनका कोविड से निधन हो गया। बता दें कि डॉ.रावत को दोनों वैक्सीन लग चुकी थी और उन्‍हें अन्‍य कोई बीमारी भी नहीं थी।

दिल्ली के कई अस्पतालों में मेडिकल स्टाफ संक्रमित

इससे पहले दिल्‍ली के एम्‍स, सफदरजंग हॉस्पिटल समेत कई निजी और सरकारी अस्‍पतालों में बड़ी संख्‍या में डॉक्‍टर और पैरा मेडिकल स्‍टॉफ कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से कई को अपनी जान भी गंवानी पड़ी है।कोरोना संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्‍या और मेडिकल स्‍टॉफ के कई सदस्‍यों के भी संक्रमित होने के कारण हॉस्पिटल भारी दबाव में हैं। कई हॉस्पिटल में स्‍टॉफ की कमी बड़ी समस्‍या बन गई है। कोरोना से निजात पाने के लिए सभी हर संभव प्रयास कर रहे हैं। लेकिन दूर दूर तक कोई हल दिखाई नही पड़ रहा है। यही वजह है कि अस्पतालों में संक्रमितों की संख्या अब अस्पतालों में सेवा कर रहे कर्मियों पर भारी पड़ रही है।

Leave a Reply