समाज हित में श्री समाज का ऐतिहासिक फैसला

  • हुमड़पुरम में खुलेगा कोविड आइसोलेशन सेंटर

  • वरिष्ठ जनों की बैठक में हुआ फैसला

श्री समाज के वरिष्ठजनों की बैठक समाज के अध्यक्ष दिनेश जी खोड़निया की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में पिछले लंबे समय से कोविड से समाज में हो रही मौतों और संक्रमण को लेकर के चर्चा की गई।

श्री समाज के अध्यक्ष खोड़निया ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि डूंगरपुर और बांसवाड़ा के सभी गांव में जैन समाज में कोरोना का संक्रमण भारी संख्या में बढ़ रहा है। लोग डर के कारण अहमदाबाद की तरफ रुख कर रहे हैं, जहां पर निजी हॉस्पिटलों के द्वारा समाज के लोगों केसाथ लूटपाट की जारी है।

खोड़निया जी ने कहा कि विपिन भाई सर्राफ ने बताया है कि पिछले एक माह में डूंगरपुर और बांसवाड़ा समाज के लोगों का लगभग पांच करोड़ रुपया अहमदाबाद के निजी अस्पतालों ने लूट लिया है। लोगों को डराया जा रहा है और जो भी पॉजिटिव आता है वह डरकर के निजी चिकित्सालय में जाता है, जहां तत्काल दो लाख  एडवांस ले लिया जाता है।

तीन से पांच लाख का बिल उसको चुकाना पड़ता है। इसी चिंता को लेकर के खोड़निया ने बैठक आमंत्रित की थी और तय किया था की जैन समाज का धन बर्बाद ना हो, किसी भी व्यक्ति को संक्रमण होने पर घबराने की जरूरत ना हो, उसको बढिय़ा सुविधा मिले इसके लिए हुमड़पुरम में कोविड केयर सेंटर खोलने की आवश्यकता है।

नवरात्रि 2020: पितृ पक्ष के बाद नहीं लगेंगे नवरात्र, 165 साल बाद बना ये संयोग

श्री समाज के अध्यक्ष के प्रस्ताव पर दिलीप कुमार जी सेठ, सुंदरलाल जी डागरिया (उदयपुर), खुशपाल जी शाह, नरेंद्र जी खोड़निया, कीर्ति कुमार, निलेश सिंघवी ने समर्थन दिया। वहीं अध्यक्ष जी ने सभी वरिष्ठ लोगों से मोबाइल के द्वारा चर्चा भी की।

 श्री समाज के अध्यक्ष खोड़निया जी ने बताया की हुमड़पुरम के तीन कमरों में 50 बेड लगाए जाएंगे जहां पर  डॉक्टर व नर्सिंग कर्मी 24 घंटे उपलब्ध रहेंगे। उनके शुद्ध भोजन की व्यवस्था वहां पर की जाएगी। सफाई कर्मी लगाए जाएंगे।

सेनेटाइजर, मास्क, ग्लव्स, व्हीलचेयर और भाप लेने का केटेल रखा जाएगा। सात से दस दिन की दवाइयों की व्यवस्था भी वहां पर की जाएगी। यहां पर सिर्फ पॉजिटिव मरीजों को रखा जाएगा, अगर किसी की तबीयत ज्यादा खराब है तो उसे एंबुलेंस के द्वारा सरकारी कोविड-19 में भेजा जाएगा।

बैठक में शिक्षण प्रबंधन समिति के अध्यक्ष खुशपाल जी शाह ने बताया की इस कोविड  सेंटर को तैयार करने के लिए पलंग- बिस्तर और अन्य प्रकार की सभी सामग्री खरीदने हेतु लगभग छह लाख का खर्च होगा।

बैठक में उपस्थित सभी लोगों ने प्रस्ताव रखा कि प्रत्येक गांव से अभी मात्र 10 हजार रुपया लिया जाए, ताकि तत्काल हॉस्पिटल तैयार किया जा सके।

उज्जैन महाकाल मंदिर के संरक्षण के लिए SC ने जारी किए कई निर्देश: देखें ये रिपोर्ट

रोगियों को 10 दिन रहना वहां पर आवश्यक होगा इसलिए उनके भोजन, साफ-सफाई, प्रतिदिन की दवाइयां, नर्सिंग स्टाफ का वेतन सब मिलाकर जो खर्च आएगा वह रोगियों के मार्फत चुकाया जाएगा। बैठक में सागवाड़ा के श्री विनय मेहता (मेल नर्स) ने चिकित्सा सम्बन्धी सभी प्रकार की जानकारी उपलब्ध कराई।

बैठक में कोविड आइसोलेशन सेंटर को सुचारू रूप से चलाने के लिए व्यवस्था कमेटी का गठन किया गया। व्यवस्था कमेटी के प्रभारी

  1. श्री निलेश संघवी (चार्टर्ड एकाउंटेंट)
  2. श्री विनय मेहता (मेल नर्स)
  3. श्री नगीन लाल जैन अध्यक्ष कॉलोनी
  4. श्री कल्पेश शाह सरोदा
  5. श्री सतीश जैन खोडऩ
  6. श्री कमलेश खोडनिया तलवाडा
  7. श्री अनिल जैन तलवाडा
  8. श्री प्रशांत जी जैन कलिंजरा

साथ ही श्री समाज के डॉक्टरों की एक कमेटी भी बनाई गई है जो मेडिकल सम्बन्धी समस्त व्यवस्थाओं को प्रतिदिन देखेंगे।

डॉक्टर्स का पैनल

१. डॉक्टर रविन्द्र जी मेहता (संयोजक) 

२. डॉक्टर निमेष जैन

३. डॉक्टर मेघ भरड़ा

४. डॉक्टर विपिन जैन

५. डॉक्टर रोहित जैन

६. डॉक्टर राजकुमार दोसी

७. डॉक्टर नरेंद्र भट्ट

बैठक में दिलीप कुमार सेठ, महासभा के अध्यक्ष सुंदर डागरिया, शिक्षण प्रबंधन के अध्यक्ष खुशपाल, महासचिव अशोक जैन, कोषाध्यक्ष प्रमोद शाह, उपाध्यक्ष कीर्ति कुमार शाह, सांगवाड़ा के ट्रस्टी नरेंद्र खोड़निया, राजमल शाह, गजेंद्र गोवडिय़ा, महावीर जैन, राजेश जैन, नगीन जैन, दीपेश सेठ, संजय शाह, निलेश मांडव उपस्थित रहे।

सादर

अशोक जैन

महासचिव