सीआरपीएफ की सभी यूनिट में खुलेगे हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर

अमर भारती : सीआरपीएफ में जवानों को चुस्त दुरूस्त और तजबूत बनाने के लिए ग्रह मंत्रालय ने हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर बनाने के आदेश दिये है। इसके लिए रामपुर ग्रुप केन्द्र स्थित कंपोजिट असपताल को जिम्मेंदारी दी गयी है। कंपोजिट अस्पताल को गत दस वर्षों से सहयोग प्रदान कर रहा आयुर्जीवनम् सेवा समिति निःशुल्क सात दिवसीय प्रशिक्षण चलाने में सहयोग प्रदान कर रहा।
प्रशिक्षण का आरंभ डीआईजी शामचन्द एवं डीआईजी रेंज एसएस सिद्धू ने किया। इस दौरान डीआईजी शाम चन्द ने कहा कि प्रत्येक जवान को स्वस्थ्य रहने का अधिकार है। डियूटी के साथ साथ स्वयं को स्वस्थ्य रखने के तरीकों को भी सीखना जरूरी है। इन सात दिनों में विभिन्न बटालियन से आये सभी जवान प्रशिक्षकों द्धारा रेकी उपचार‚ साईकोथेरेपी‚ जेंडर अंडरस्टेंड‚ स्ट्रेसरिडेक्शन‚ हार्टफुलनेस एंड रिलेक्सेशन‚ मर्म थेरेपी‚ आहार चिकित्सा‚ मेडीटेशन एंड योग जैसी वैकल्पिक पद्धत्तियों को सीख कर अपने अपने यूनिट में जाकर वैलनेस सेवाएं प्रदान कर जवानों को फिट बनाये रखने का प्रयास करेगें।
कंपोजिट अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा० कुलजीत जागीरदार ने बताया कि यह प्रशिक्षण दवा रहित चिकित्सा का है। बीमारी से बचाव के साथ तत्काल मानसिक तनाव एवं दर्द आदि में तुरंत लाभ पहुचाने की वैकल्पिक व्यवस्था है जिसमें फिट रखने के तरीकों के बारे में जवानों को सीखना है और फिर अपनी यूनिट में जाकर जवानों को स्वास्थ्य लाभ प्रदान करना है।
प्रशिक्षण के नोडल अधिकारी उप कमांडेट कमल किशोर बिष्ट ने बताया कि जीसी काठगोदाम एवं दस अलग अलग बटालियन से दो–दो जवानों सहित कुल २६ जवान प्रशिक्षण में प्रतिभाग कर रहे है। जम्मू एंड काश्मीर की यूनिट के जवान सुरक्षा कारणों से प्रतिभाग नहीं कर पा रहे है।  इस दौरान प्रमुख प्रशिक्षक डा० कुलदीप चौहान‚ डा० अनामिका‚ डा० गोपाल‚ सहायक कमांडेट दीपक पुनिया‚ बचान सिंह,  सहायक कमाडेंट अभिमन्यु यादव, मनु तिवारी, विनय वर्मा, रामकेवल आदि मौजूद रहे