महाशिवरात्रि पर हर-हर गंगे: जानिए शाही स्नान का विशेष क्रम

नई दिल्ली। महाकुम्भ-2021 का प्रथम शाही स्नान कल अर्थात महाशिवरात्रि के दिन मनाया जाएगा। हरिद्वार के जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने बताया कि, अभी तक के गंगा स्नान में जो व्यवस्था रही है, उसी व्यवस्था के तहत 11 मार्च का शाही स्नान भी सम्पन्न कराया जाएगा। हालांकि हरिद्वार पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को कोरोना बचाव के सभी नियमों का पालन करना होगा। लेकिन, उन्हें अपने साथ कोरोना से जुड़ी कोई रिपोर्ट लाने की जरूरत नहीं है।

शाही स्नान में अखाड़े करेंगे स्नान
शाही स्नान में सभी 7 संन्यासी अखाड़ों के साधु-संत स्नान करने के लिए पहुंचेंगे। अपने-अपने अखाड़ों से भव्य शोभायात्रा निकालते हुए अखाड़ों के साधु-संत निर्धारित समय पर हर की पैड़ी स्थित ब्रह्मकुंड पहुंचकर मां गंगा में स्नान करेंगे।

यह है विशेष क्रम
कुंभ मेले में अखाड़ों के शाही स्नान का एक विशेष क्रम होता है। शाही स्नान में सबसे पहले जूना, आह्वान और अग्नि अखाड़ा स्नान करेंगे। उसके बाद निरंजनी और आनंद अखाड़ा गंगा में आस्था की डुबकी लगाएंगे। इसके बाद महानिर्वाणी और अटल अखाड़े के साधु-संत हर की पैड़ी पर कुंभ स्नान करेंगे।

सातों अखाड़े उत्साहित
अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने बताया कि कुंभ मेले में शाही स्नान सभी सात सन्यासी अखाड़े शाही स्नान करने के लिए खासे उत्साहित हैं।

Leave a Reply