फल व्यापारी का हुआ लाखों का नुकसान

एक तरफ जहां प्रशासन बाधा रहित फल और सब्जियों की आपूर्ति की बात करता है वहीं दूसरी तरफ हकीकत कुछ और बयां करती नजर आ रही है । आगामी नवरात्रि की तैयारी पर फल व्यापारी ने आंध्र प्रदेश से केला गोंडा के मे बिक्री के लिए केला का ट्रक 20 बीस मार्च को आ जाने के बाद एक दिन का जनता कर्फ्यू व लगातार लाग डाउन की भेंट चढ़ गया।अन गिनत ट्रक मे भरे केला खराब हो कर पानी मिल गया। वही व्यापारी लाखों के नुकसान से सहम सा गया हो।

फल व्यापारी ने अधिक नुकसान होने की वजह से व्यापारी का बिजनेस भारी गिरावट आ गई है जिसके कारण गोदमो में ताला पड़ गये ।वही केला व्यापारी ने सरकार से आर्थिक मदद के लिए सरकार से गुहार लगाई।पूरा मामला गोंडा जिले से हैं जहां फल व्यापारी जैद खान ने आगामी नवरात्रि के त्यौहार को देखते हुए आंध्र प्रदेश से केला मंगवाया जो केला बीस मार्च को गोंडा जिले में पहुंच गया लेकिन जनता कर्फ्यू और लॉक डाउन की मार झेलने से सैकडों टन केले हुए बर्बाद हो गये जिला प्रशासन व कोरोना वायरस के महामारी मे लाग डाऊन के बीच मे पिसा बेचारा व्यापारी मोहम्मद जैद को समय पर परमिट नहीं दिया।

जिससे केलों की आपूर्ति नहीं हो पाई और केले हुए बर्बाद यहां गरीबों के लिए मोदी सरकार ने एक लाख 6700 हजार का पैकेज दिया वहीं फल विक्रेता को सुविधाओं से निराशा हाथ लगेगी या फिर सरकार आर्थिक मदत करेगी । अब देखना यह है कि एक लाख सड़सठ हजार के पैकेज में इस फल विक्रेता को भी कुछ हाथ लगेगा या ठंडे बस्ते में चला जाएगा।