कोयला चोरी के मामले में एसईसीएल अधिकारी समेत चार गिरफ्तार

अमर भारती : छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले की पुलिस ने सरकारी कोयले की चोरी और हेराफेरी करने के मामले में साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड के सहायक प्रबंधक समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। रायगढ़ जिले के पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने आज यहां बताया कि केंद्र सरकार के उपक्रम एसईसीएल से सरकारी कोयले की चोरी और हेराफेरी करने के मामले में पुलिस ने एसईसीएल के सहायक प्रबंधक, परिवहनकर्ता समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

सिंह ने बताया कि एसईसीएल की जामपाली माइंस घरघोड़ा से एसईसीएल के अधिकारी, कर्मचारी और परिवहनकर्ताओं की मिलीभगत से लंबे समय से कोयले की चोरी की सूचना थी। उन्होंने बताया कि पुलिस ने हाल ही में दो ट्रॉलर में करीब डेढ़ लाख रुपए मूल्य का 60 टन कोयला जब्त किया था। परिवहनकर्ताओं ने पुलिस को बताया था कि वह फर्जी नंबर प्लेट लगाकर, सीसीटीवी फुटेज मिटा कर जामपाली माइंस घरघोड़ा से कोयले की चोरी कर खुले बाजार में बेचते हैं।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि परिवहनकर्ताओं के बयान के आधार पर पुलिस जांच में पता चला कि एसईसीएल के जामपाली माइंस के असिस्टेंट मैनेजर सुमांता कुमार (40 वर्ष), बैरियर आपरेटर योगेश सिंह (27 वर्ष) और ईश्वर साहू (32 वर्ष) तथा यशवंत कुमार (21 वर्ष) मिलकर कोयला चोरी को अंजाम देते थे। पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया है। सिंह ने बताया कि पूंजीपथरा थाने की पुलिस ने एसईसीएल के असिस्टेंट मैनेजर सुमांता कुमार सहित छह लोगों के खिलाफ कोयले की हेराफेरी के मामले में अपराध दर्ज कर कार्रवाई की है। इस मामले में दो लोग अभी भी फरार है।