पूरा देश सीमा पर मातृभूमि की रक्षा कर रहे जवानों के साथ: PM

#नई दिल्ली. संसद का मॉनसून सत्र आज (14 सितंबर) से शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्र की शुरुआत से पहले संसद भवन में मीडिया से कहा, संसद के इस सत्र में कई बड़े फैसले लिए जाएंगे और कई अहम मुद्दों पर चर्चा भी होगी।

कोरोना संकट का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा, जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं। पीएम ने हिन्दी दिवस की बधाई भी दी। इसके अलावा चीन को संदेश देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, पूरा देश आज सीमा पर तैनात जवानों के साथ खड़ा है। मोदी ने कहा संसद के इस सत्र में कई बड़े फैसले लिए जाएंगे और कई अहम मुद्दों पर चर्चा भी होगी।

सोमवार को पत्रकारों से बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा, जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक हमें सावधान रहने की जरूरत है।

पीएम मोदी ने कहा, सत्र ऐसे समय में हो रहा है जब पूरा देश कोरोनावायरस से लड़ रहा है और लोगों को कई तरह की बंदिशों से जूझना पड़ रहा है।

एक विशिष्ट वातावरण में संसद का सत्र प्रारंभ हो रहा है। एक तरफ कोरोना है और दूसरी तरफ कर्तव्य। सांसदों ने कर्तव्य का पथ चुना। मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं। इस बार लोकसभा और राज्यसभा अलग-अलग समय पर चलेगी।

शनिवार और रविवार को भी सदन चलेगा। सभी सांसद इस पर सहमत हैं। इस सत्र में कई महत्वपूर्ण निर्णय होंगे, अनेक विषयों पर चर्चा होगी।

PM मोदी का जन्मदिन ‘सेवा सप्ताह’ के रूप में मना रही बीजेपी

कोरोना का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा, देश में कोरोना से बनी जो परिस्थिति है उसमें जिन सतर्कताओं के विषय में सूचित किया गया है उन सतर्कताओं का पालन हम सबको करना है। ये भी साफ है कि जब तक दवाई नहीं तब तक कोई ढिलाई नहीं।

हम चाहते हैं दुनिया के किसी भी कोने में जल्दी से जल्दी वैक्सीन बन जाए। हमारे वैज्ञानिक भी सफलता की ओर बढ़ रहे हैं।

किसी में है इतना दम जो उद्घव को अयोध्या जाने से रोक सके: चंपत

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आज जब हमारी सेना के वीर जवान सीमा पर डटे हुए हैं, बड़ी हिम्मत, जज़्बे, बुलंद हौंसलों के साथ दुर्गम पहाड़ियों में डटे हुए हैं।

जिस विश्वास के साथ वो खड़े हैं, मातृभूमि की रक्षा के लिए डटे हैं ये सदन भी एक स्वर से संदेश देगा कि, सेना के जवानों के पीछे पूरा देश खड़ा है।