क्या आप जानते हैं : यूपी के इस जिले से था मॉरीशस के पूर्व राष्ट्रपति का गहरा नाता

पीएम मोदी ने निधन पर जताया शोक

File Pic

नई दिल्ली। मॉरीशस के पूर्व राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री अनिरुद्ध जगन्नाथ का 91 साल की उम्र में निधन हो गया। भारतीय मूल के अनिरुद्ध जगन्नाथ मॉरीशस के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति, दोनों ही पदों पर रह चुके हैं।
अनिरुद्ध जगन्नाथ के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है।

पीएम ने ट्वीट कर जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को ट्वीट किया है- ‘पद्म विभूषण’ सर अनिरुद्ध जगन्नाथ, एक बड़े राजनेता और आधुनिक मॉरीशस के शिल्पकार थे। एक ऐसे प्रवासी भारतीय थे, जिन्होंने विशेष द्विपक्षीय संबंध बनाने में मदद की। उनके परिवार और मॉरीशस के लोगों के प्रति संवेदना। ओम शांति। ‘

अनिरुद्ध जगन्नाथ को मिला था प्रथम प्रवासी भारतीय सम्मान

एक हिंदी प्रेमी के तौर पर अनिरुद्ध जगन्नाथ के निधन को बड़ी क्षति के तौर पर देखा जा रहा है। भारत और हिंदी के प्रति अपने खास लगाव के लिए पहचाने जाने वाले अनिरुद्ध जगन्नाथ को प्रथम प्रवासी भारतीय सम्मान से नवाजा गया था। वर्तमान प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ के पिता अनिरुद्ध जगन्नाथ के पुरखे उत्तर प्रदेश के बलिया से मॉरीशस पहुंचे थे। उनके निधन की खबर से शोक की लहर दौड़ गयी है।

File Pic

बलिया जिले के रहने वाले थे पूर्वज

अनिरुद्ध जगन्नाथ के पूर्वज उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के रसड़ा थाना इलाके के अठिलपुरा गांव में रहने वाले थे। उनके पिता विदेशी यादव और चाचा झुलई यादव को अंग्रेजी हुकूमत ने 1873 में गिरमिटिया मजदूर के रूप में गन्ने की खेती के लिए जहाज से मॉरीशस भेजा था। आज यह परिवार मॉरीशस का सबसे प्रतिष्ठित राजनीतिक परिवार के रूप में जाना जाता है। 2019 में वह 8 दिवसीय दौरे पर भारत आए थे, तब उन्होंने वाराणसी समेत कई स्थानों का दौरा किया था।

Leave a Reply