जोरों पर देशभर में बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने की मांग, सोनू सूद भी आये आगे

कोरोना संक्रमण के बीच बोर्ड परीक्षा पर लोगों में नाराज़गी

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना अपने पैर पसार चुका है। ऐसे में, सबसे बड़ी समस्या बोर्ड परीक्षा वाले विद्यार्थियों की है। जिनका भविष्य कोरोना के कारण असमंजस में पड़ चुका है। पूरे देश मे लगातार और तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच एक ओर विद्यार्थी समूह परीक्षाओं का आयोजन करने और परीक्षाओं को रद्द करने को लेकर देश की शीर्ष अदालतों में पहुंच चुके हैं। वहीं दूसरी ओर, देशभर में अब बोर्ड परीक्षाओं को रद्द कराने की मांग अब ज्यादा जोर पकड़ रही है। छात्रों के समर्थन में कई मंत्री व अभिनेता सोनू सूद ने भी अपनी बात रखी, जिसके बाद परीक्षा रद्द करने की मांग अब अपने चरम पर है।

दिल्ली में परीक्षा टालने, तो तमिलनाडु ने की परीक्षा रद्द करने की मांग

तमिलनाडु में विपक्ष के नेताओं ने बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने की मांग की है। राज्य में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए पीएमके के संस्थापक एस रामदौस ने सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं को ऑफलाइन आयोजित करने का विरोध किया है। वहीं, दिल्ली सरकार ने परीक्षाओं को टालने की मांग का समर्थन किया है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सीबीएसई द्वारा आयोजित होने वाली प्रैक्टिकल परीक्षाओं को 20 अप्रैल तक स्थगित करने का सुझाव दिया लेकिन कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सरकार ने पहले ही स्कूल को बंद कर दिया।

अभिनेता सोनू सूद के किया समर्थन

लॉकडाउन में असल हीरो की भूमिका निभाने वाले सोनू सूद लगातार अपने सामाजिक कार्यो के चलते सुर्खियों में रहते है। एक बार फिर सोनू सूद ने वीडियो जारी कर छात्रों के समर्थन में अपनी बात कही। सोनू सूद ने भी महामारी के बढ़ते मामलों की स्तिथि में छात्रों के एग्जाम टालने या रद्द करने की वकालत की है। उन्होंने कहा कि लाखों की तादाद में आ रहे केसो के बीच परीक्षा कराना अनुचित है।

Leave a Reply