गुजरात में दलित लड़की से सामूहिक दुष्कर्म, अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं

अमर भारती : गुजरात के राजकोट जिले में तीन लोगों ने 19 साल की दलित लड़की को कथित तौर पर अगवा किया और बंदूक का भय दिखाकर कार में उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। पुलिस ने गुरूवार को यह जानकारी दी। इस मामले में अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

पुलिस ने बताया कि कोटदासनगनी तालुका की इस लड़की ने जिला पुलिस से शिकायत की कि अमित पडालिया और उसके दोस्तों– विपुल शेखदा तथा शांति पडालिया ने बुधवार को बंदूक का भय दिखाकर उसके साथ दुष्कर्म किया।आरोप है कि अमित स्थानीय भाजपा नेता है।

वह पहले पार्टी की कोटदासनगनी तालुका का महासचिव रहा था। खबरों के अनुसार शांति पडालिया इसी तालुका पंचायत का निर्वाचित कांग्रेस सदस्य है। पुलिस जांच में पता चला है कि अमित की मां उसी गांव की सरपंच हैं जिस की लड़की निवासी है। पुलिस ने बताया कि पीड़िता ने दावा किया कि तीनों ने उसे घर से अगवा किया और कार में जबरदस्ती बैठाया।

पुलिस ने शिकायत के हवाले से कहा कि तीनों ने बंदूक का डर दिखाकर कार में उसके साथ दुष्कर्म किया और वे शाम को उसके घर के पास छोड़ गये। राजकोट के पुलिस अधीक्षक बलराम मीणा ने कहा, ‘‘हम उनकी राजनीतिक संबद्धताओं के बारे में नहीं जानते।’’ उन्होंने कहा कि अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।