CoronaVirus Effect: रेल कर्मियों के लिए कारगर हथियार बना आरोग्य सेतु, हजारों लोगों ने एप डाउनलोड किया

CoronaVirus Effect: कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए आरोग्य सेतु एप बड़ा हथियार साबित हो रही है। खासतौर से हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और चंडीगढ़ में काम कर रहे हजारों रेलकर्मियों और उनके परिवार के सदस्यों की कोरोना से सुरक्षा में ये एप बड़ी भूमिका निभा रहा है।

हजारों कर्मियों ने अपने-अपने मोबाइल में ये एप डाउनलोड कर लिया है। करीब 25 हजार एप डाउनलोड होने का आंकड़ा मंडल के पास आ चुका है। लोकेशन आधारित कोरोना ट्रैकर एप होने के कारण यह यूजर को संदिग्ध इलाके में जाने से रोक रहा है और उनकी सुरक्षा कर रहा है।

रेल मंत्रालय के आदेशों पर सभी जोन, मंडल में एप डाउनलोड की जा रही है। रेलवे के कर्मचारी कोरोना के खतरे से बचाने के लिए इस एप पर पूरा भरोसा जता रहे है। बता दें कि मोबाइल में यह एप डाउनलोड होने के बाद उसकी लोकेशन ऑन रखना होती है। इसी तरह कर्मचारी किन लोगों के संपर्क में आए, इन लोगों की कोरोना को लेकर हिस्ट्री क्या है, उसकी जानकारी भी आसानी से पता की जा सकती है।

यदि कर्मचारी किसी संक्रमित या संदिग्ध के संपर्क में आता है, तो भी पता चल जाता है। खास बात ये है कि इसमें साइबर सेल का रोल काफी अहम है। इसी के जरिए रेलवे अपने कर्मचारियों को कोरोना से बचा रहा है। दरअसल रेलवे कर्मचारियों कई तरह के लोगों के संपर्क में आ रहे हैं, ऐसे में उन्हें पता नहीं चल पाता कि कहीं वे संक्रमित लोगों से तो नहीं मिल रहे। ऐसे में ये एप उन्हें जानकारी देगा।