CoronaVirus Effect: हवाई यात्रियों की संख्या में 40 फीसद कमी के आसार

कोरोना वायरस महामारी के कारण पूरे देश में 3 मई 2020 तक लॉकडाउन घोषित है। ऐसे में देश में रेल, बस, और एयरलाइंस यात्री सेवाएं भी पूरी बंद हैं। सभी तरह की यात्री परिवहन सेवाओं को 3 मई तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। अनुमान के मुताबिक मौजूदा स्थिति के चलते हवाई सफर करने वाले यात्रियों की संख्या में 40 प्रतिशत तक की कमी हो सकती है। बता दें कि वर्ष 2020 के लिए यह आशंका वैश्विक स्तर पर यात्रियों को लेकर जताई गई है। इससे नागरिक उड्डयन कारोबार को बड़े झटके के रुप में देखा जा रहा है। मौजूदा स्थिति में इसकी वृद्धि दर नकारात्मक दिशा में जा सकती है।

द एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार चालू वर्ष के शुरुआती तीन महीनों में सभी क्षेत्रों की एयरलाइन कंपनियों को मुश्किल दौर का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन इस दौरान एशिया-प्रशांत क्षेत्र में कार्य करने वाली कंपनियों के आंकड़े चिंता में डालने वाले हैं। आशंका है कि उसके बाद के महीनों के आंकड़े तो डरा देने वाले होंगे। दुनिया के ज्यादातर देशों में लॉकडाउन के चलते हवाई यात्रा बिल्कुल रुक सी गई है।

इतना ही नहीं कोरोना वायरस की मौजूदा स्थिति का असर आने वाले अगले कुछ महीनों में दिखाई देगा। कोरोना वायरस संक्रमण के विस्तार की आशंका में आने वाले महीनों में हवाई यात्रा के सीमित रहने की आशंका है। साल के शुरुआती तीन महीनों में यूरोप में जहां 23.9 प्रतिशत (ऋणात्मक) यात्री वृ्द्धि दर देखी गई, वहीं उत्तरी अमेरिका में ये आंकड़ा 20.7 प्रतिशत (ऋणात्मक) रहा है।