इंदौर में हर पांचवां संदिग्ध निकल रहा काेरोना वायरस पॉजिटिव

तमाम प्रयासों के बावजूद मध्य प्रदेश के इंदौर-उज्जैन में कोरोना का ग्राफ नीचे नहीं आ रहा है। 11 दिन में इंदौर में कोरोना मरीज तीन गुना तो उज्जैन में चार गुना बढ़ गए। इंदौर में तो हर पांचवां संदिग्ध कोरोना पॉजिटिव निकल रहा है। एक हजार से ज्यादा मरीज मिल चुके हैं और 1250 से ज्यादा संदिग्धों की जांच रिपोर्ट आना बाकी है। इधर, साढ़े 17 लाख लोगों की स्क्रीनिंग में तीन हजार से ज्यादा हाई रिस्क लोगों के मिलने से चिंता और बढ़ गई है।

इंदौर में अब तक 4842 संदिग्ध मरीजों के सैंपल जांचे जा चुके हैं। इनमें 1029 में कोरोना की पुष्टि हुई है। यानी हर पांचवें संदिग्ध मरीज में कोरोना वायरस का संक्रमण मिल रहा है। 13 अप्रैल को पॉजिटिव मरीजों की संख्या सिर्फ 362 थी। इस हिसाब से देखें तो 11 दिन में शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या करीब तीन गुना हो गई है। कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी के मामले में उज्जैन ने इंदौर को भी पीछे छोड़ दिया है।

उज्जैन में 11 दिन में यह बढ़ोतरी चार गुना से ज्यादा है। यहां फिलहाल 105 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं जिनकी संख्या 13 अप्रैल को सिर्फ 24 थी। प्रदेश के कुल मरीजों में से 70 फीसद इंदौर-उज्जैन में प्रदेश में कोरोना के अब तक 1700 से अधिक मरीज मिल चुके हैं। इनमें से 70 फीसद से ज्यादा इंदौर-उज्जैन के हैं। दोनों जगह मिलाकर अब तक 69 मरीज कोरोना की वजह से मौत के मुंह में समा चुके हैं।