कोरोना वायरस को लेकर चीन की डॉक्टर का बड़ा खुलासा

अमर भारती : इतनी तेजी से नहीं फैलता कोरोना वायरस, यदि चीनी आधिकारी वक्त रहते इस बीमारी के विषय में सबको जागरुक कर देते। कोरोना वायरस का मामला सर्वप्रथम 16 दिसंबर 2020 चीन के वुहान शहर में आया।

वुहान की एक डॉक्टर‘आई फेन’ ने यह खुलासा किया है, इस जानलेवा बीमारी के बारें में  वुहान के डॉक्टर्स ने चीन के आधिकारियों को खबर भी दी थी, लेकिन चीन के आधिकारियों ने इस जानलेवा बीमारी के बारें मेंकुछ भीकहने से मना कर दिया था।

आप लोगों को बता दिया जाए कि अब तक इस बीमारी के प्रकोप में इटली, मलेशिया, भारत, ईरान, वियतनाम, जापान, दक्षिण कोरिया, न्यूयॉर्क आ चुके हैं।आज स्थिति यहां तक पहुंच गई है कि यह एक विश्वव्यापी समस्या बन चुकी हैं।

वुहान की डॉक्टर का क्या कहना हैं?

वुहान में जिन डॉक्टर ने इस वायरस की सबसे पहले बात की थी , उनकी मौत हो चुकी हैं। कुछ लापता हैं। वुहान की डॉक्टर आई फेन वहीं डॉक्टर है जिन्होनें कोविड 19 कोरोना वायरस को खोजा हैं।इस डॉक्टर का कहना है मेरे कई साथी इस बीमीरी से ग्रसित लोगों का इलाज करते वक्त मर गए।

लेकिन दिंसबर में जब हमने इस वायरस के बारें में आला सरकारी आधिकारियों को बताया तो हमें चुप रहने को कहा गया।उनके एक साथी जिन्होनें इस मामले को सोशल मीडिया पर इस उठाया , डॉ‘ली वेनलियांग’ , वह अभी जेल में है।

रेनवू ने डॉक्टर फेन के इंटरव्यू को हटाया

डॉक्टर फेन का इंटरव्यू रेनवू ने अपनी साइट से हटा दिया है।  डॉ फेन का इंटरव्यू सोशल मीडिया से भी गायब हो गया है। डॉ फेन का इंटरव्यू मोर्स कोड और इमोजी में बदलकर सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। प्रोड्सूयर टोनी लिन ने अपने ट्विटर हैंडल में इसे शेयर किया है।

रिपोर्ट : – आशा