हांगकांग के मामले में विदेशी ताकत न करे हस्तक्षेप : चीन

नई दिल्ली। जिस तरह चीन ने हांगकांग पर अपनी हुकूमत जता रखी है, उसे लेकर पश्चिमी देशों व चीन के बीच तनाव जारी है। इसी बीच बीजिंग के शीर्ष प्रतिनिधि ने आज चेतावनी दी है, कि , “यदि वैश्विक आर्थिक केंद्र का इस्तेमाल कठपुतली के तौर पर करने की कोशिश की तो वे पाठ पढ़ाएंगे।”

लुओ ह्विनिंग ने दिया बयान

राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के लिए ‘शिक्षण दिवस’ के मौके पर चीन के हांगकांग लिएजॉन ऑफिस के डायरेक्टर लुओ ह्विनिंग ने यह बयान दिया।

दिसंबर में हांगकांग के संसदीय चुनाव

दिसंबर में हांगकांग के संसदीय चुनाव आयोजित किए जाएंगे। कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के कारण चुनाव को टाल दिया गया था। बता दें कि चीन ने मार्च में हांगकांग की चुनावी प्रक्रिया में बदलाव करने की घोषणा की थी। जिसमें संसद में सीटें बढ़ाने और निर्वाचित सीटों की संख्या 35 से घटाकर 20 करने की योजना है।राजनीतिक उठापटक के बीच चीन ने ब्रिटिश शासन से वर्ष 1997 में ‘एक देश, दो व्यवस्था’ के तहत हांगकांग को ले लिया था।

Leave a Reply