दूध के दाम घटाए जाने से पशुपालकों का संकट और बढ़ा : सचिन यादव

भोपाल. मध्य प्रदेश के पूर्व कृषि मंत्री सचिन यादव ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर दूध के दाम चार रुपये लीटर कम किए जाने पर चिंता जताई है।

साथ ही कहा है कि कोरोना काल में दाम कम किए जाने से पशुपालक किसानों का संकट और बढ़ गया है। इसलिए दूध के दाम कम करने का आदेश वापस लिया जाए।

राज्य सरकार के अधीन दुग्ध सहकारी समितियों द्वारा किसानों से दूध खरीदी के दाम घटाए जाने को लेकर पूर्व कृषि मंत्री और कसराव के विधायक सचिन यादव ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। उन्होंने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है कि किसानों से दूध की खरीदी पूर्व दाम पर ही की जाए।

पूर्व कृषि मंत्री यादव ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि राज्य सरकार के अधीन दुग्ध सहकारी समितियों द्वारा किसानों से दूध खरीदी के दाम चार रुपये प्रति किलों घटाए गए है, इससे अन्नदाता पशुपालक किसान दुखी है।

सेंसेक्स 300 अंक उछला, निफ्टी ने हासिल की 100 अंकों की बढ़त

एक तरफ जहां किसानों से दूध खरीदी के दाम घटाए गए है तो दूसरी ओर उपभोक्ताओं को भी सरकार ने कोई राहत नही दी है।

यादव ने आगे कहा है कि कोविड-19 में किए गए लॉकडाउन की वजह से किसानों की आर्थिक स्थिति पहले से ही ठीक नही थी।

डॉलर के मुकाबले रुपया मजबूत, कच्चा तेल वायदा कीमतों में तेजी

इसके बाद अब सरकार के इस किसान विरोधी निर्णय से किसान आर्थिक रूप से और कमजोर हो जाएंगे।

पूर्व कृषि मंत्री यादव ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि दुग्ध उत्पादक किसानों के दूध के दाम चार रुपये लीटर कम करने के निर्णय को तत्काल प्रभाव से निरस्त कर उन्हें पूर्वानुसार दाम दिलाये जाने के आदेष दे। इस फैसले से पशुपालक किसानों को राहत मिलेगी।